नई मुसीबत! केरल में Zika virus का पहला मामला आया सामने, जानें क्या हैं लक्षण

zika Virus In Kerala
Image Credits: Pixabay

कोरोना वायरस के बाद अब एक नई मुसीबत सामने आ गई है. केरल (Kerala) में अब जीका वायरस (Zika virus) का पहला मामला सामने आया है. यह वायरस एक 24 वर्षीय गर्भवती महिला में पाया गया है. वहीं डॉक्टरों के मुताबिक राहत वाली बात है कि यह वायरस जानलेवा नहीं है. आपको बता दें कि पुणे की एक लैब में 19 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे जिसमें से 13 लोगों में जीका वायरस पाया गया है.

दरअसल, केरल के तिरुवनंतपुरम के पास प्रसाल्ला की रहने वाली 24 वर्षीय गर्भवती महिला को जब बुखार, सिरदर्द और शरीर पर स्पॉट पड़ने लगे को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. जिसके बाद उनकी जांच के लिए सैंपल लिए गए. फिर पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) में जांच के लिए भेजे गए 19 सैंपल्स में से 13 में जीका वायरस संक्रमण पाया गया. ये सारे सैंपल तिरुवनंतपुरम से भेजे गए थे.

वहीं निजी अस्पताल के डॉक्टर का कहना है कि जीका से संक्रमित महिला की हालत स्थिर है और उनका इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा कि यह वायरस जानलेवा नहीं है, इसको लेकर चिंता की कोई बात नहीं है. डॉक्टरों ने बताया कि जिन 19 लोगों के सैंपल एनआईवी भेजे गए थे उन सभी में इसी तरह के लक्षण दिखाई दिए थे. इसलिए इन 13 लोगों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है.

ये होते हैं जीका वायरस के लक्षण

आपको बता दें कि जाकी वायरस के लक्षण डेंगू और चिकनगुनिया के जैसे ही माने जा रहे हैं. जीका वायरस के लक्षणों की बात करें तो इस वायरस में हल्का बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द, उल्टी और सामान्य तौर पर खुद को अमहसूस करना शामिल है. ध्यान रहें कि इस जाकी वायरस से व्यक्ति दो से सात दिन तक संक्रमित हो सकता है.

ये भी पढ़ें: तीसरी लहर से निपटने के लिए 23,000 करोड़ के पैकेज को मिली मंजूरी