लॉकडाउन में छूटी मज़दूरी! अब यूट्यूबर बनकर लाखों कमाता है यह शख्श, देखें वीडियो

image credits: Youtube/ Screengrab

मौजूदा वक़्त में सोशल मीडिया कई गरीब परिवारों के लिए वरदान साबित हुआ है, इसका ताज़ा उदाहरण अब बने हैं ओडिशा निवासी आदिवासी मजदूर ‘इसाक मुंडा’. बतादें, कोरोनाकाल में लॉकडाउन से आर्थिक तंगी सह रहे अन्य परिवारों की तरह मुंडा पर भी नौकरी छूटने की गाज गिरी जिसमें मजदूरी करके रोजी-रोटी कमा रहे इस युवक पर मानों पहाड़ सा टूट गया हालांकि मुंडा की एक छोटी सी कोशिश ने अब परिवार की जिंदगी बदल दी है.

यूट्यूब चैनल से कमा रहे लाखों रुपए

ओडिशा के संबलपुर जिला के बाबूपाली गांव निवासी इसाक मुंडा पिछले साल लॉकडाउन के दौरान अपने दोस्त के मोबाइल फोन पर कुछ यूट्यूब वीडियो देखने के बाद चैनल बनाने का सोचा और अपना वीडियो बनाना शुरू कर दिया. आज उनके यूट्यूब चैनल ‘इसाक मुंडा ईटिंग’ (Isak Munda Eating) के 7.3 लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं और अब वो महीने के एक लाख रुपये से ज्यादा कमा लेते हैं और वे अबतक 300 से अधिक वीडियो पोस्ट कर चुके हैं, जो उनकी जिंदगी की सादगी को दुनिया के सामने रखते हैं.

35 वर्षीय मुंडा ने कहा, “एक दिन मैं अपने मोबाइल फोन पर वीडियो देख रहा था तभी एक वीडियो सामने आया. वीडियो में, प्रस्तुतकर्ता ने पैसे कमाने के लिए वीडियो बनाने और उन्हें यूट्यूब पर अपलोड करने का सुझाव दिया. मैंने बार-बार वीडियो देखा और इसे आजमाने का फैसला किया.”

मुंडा ने आगे कहा ‘मैंने अपना पहला स्मार्टफोन खरीदने के लिए 3 हजार रुपये का लोन लिया था ताकि वीडियो बना सकूं. मैं अपने छोटे से घर और गांव के जीवन के बारे में वीडियो बनाता हूं, जिसमें दिखाया जाता है कि हम क्या और कैसे खाते हैं. मुझे खुशी है कि काम को बहुतों ने पसंद किया. अब में अच्छा कमा लेता हूं.’

ये भी पढ़ें: नई आबकारी नीति- दिल्ली में शराब की दुकानें अब होंगी भीड़मुक्त, बढ़ेगी सुरक्षा