दूसरी लहर का कहर: सिर्फ अप्रैल और मई में 22.7 मिलियन लोगों ने गंवाईं नौकरियां, पढ़ें रिपोर्ट

unemployment
Image Credit: Pexels

कोरोना की दूसरी लहर (second Wave) ने देश की अर्थव्यवस्था को हिला कर रख दिया है. दूसरी लहर के कहर ने बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां छीन ली हैं. अप्रैल और मई के इन दो महीनों की अगर हम बात करें तो इनमें 22.7 मिलियन लोगों को अपनी नौकरी (Job) गंवानी पड़ी है. जबकि 40 करोड़ लोग कार्यरत थे जिसमें से इतने लोगों ने नौकरी खोई हैं. वहीं देश की अर्थव्यवस्था में भी इस बार 7.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

भारतीय अर्थव्यवस्था निगरानी केंद्र के प्रमुख महेश व्यास (Mahesh vyas) ने बताया कि हमने दूसरी लहर के दौरान अप्रैल और मई में 22.7 मिलियन नौकरियां खो दी हैं. उन्होंने बताया कि देश में नौकरियों की कुल संख्या लगभग 400 मिलियन है. इन 40 करोड़ लोगों में कार्यरत थे उनमें से 22.7 मिलियन लोगों ने पिछले 2 महीनों में अपनी नौकरी खो दी हैं.

कोरोना की दूसरी लहर ने देश की अर्थव्यवस्था को डगमगा दिया है. भारत सरकार द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस बार के वित्त वर्ष 2020-21 में देश की जीडीपी में 7.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. जीडीपी में यह अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है. जबकि साल 2019-20 में 4.0 प्रतिशत की गिरवाट दर्ज की गई थी.

आपको बता दें कि पिछले वित्तीय वर्ष में ग्रॉस वैल्यू एडेड में 6.2 फीसदी गिरावट आई है. इस साल फरवरी में अनुमान लगाया गया था कि आर्थिक वृद्धि दर में 8 फीसदी गिरावट आएगी लेकिन इस तरह देखें तो वास्तविक आंकड़े अनुमान के मुकाबले काफी ठीक हैं.

ये भी पढ़ें: बीते 24 घंटों में मिले 1.32 लाख नए केस और 2.31 लाख हुए रिकवर