Starship SN-10 video: ऐसा क्या हुआ आग के शोलों में बदल गया रॉकेट, जाने यहां...

  
Starship SN-10 video: ऐसा क्या हुआ आग के शोलों में बदल गया रॉकेट, जाने यहां...

अरबपति एलन मस्‍क की कंपनी स्‍पेसएक्‍स (space x) का स्‍टारशिप SN10 आग के शोलों में तब्दील हो गया. पहली बार SN-10 स्टारशिप हवा में करीब 6 मील की ऊंचाई तक गया, लेकिन धरती पर उतरने के 10 मिनट बाद इसमें जोरदार विस्‍फोट हो गया और लॉन्‍चपैड पर ही यह जलकर पूरी तरह से खाक हो गया।

आपको बता दें कि जैसे ही स्‍पेसएक्‍स की टीम ने इस उड़ान को सफल करार दिया, यह रॉकेट आग के शोलों में बदल गया।

स्‍पेसएक्‍स के रॉकेट स्‍टारशिप एसएन10 ने उड़ान भरी और बिना नष्‍ट हुए ही धरती पर लैंड कर गया। एसएन10 (SN10) रॉकेट धरती से करीब 6 मील की ऊंचाई तक गया। इस बीच उतरने के करीब 10 मिनट बाद यह रॉकेट अपने पूर्ववर्ती प्रोटोटाइप एसएन8 और एसएन9 की तरह से ही आग के शोलों में बदल गया। स्‍पेसएक्‍स के सीईओ एलन मस्‍क ने राकेट के बिना नष्‍ट हुए लैंडिंग करने के लिए उसकी तारीफ की है।

यहां देखें वीडियो

https://youtu.be/XOQkk3ojNfM

एसएन10 रॉकेट में विस्‍फोट के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन मस्‍क अक्‍सर इस तरह की घटनाओं को तेज गैरनियोजित विघटन करार देते हैं। कुछ सूत्रों का दावा है कि रॉकेट के लैंडिंग लेग बेस से जुड़े नहीं थे जिससे यह रॉकेट लुढ़कने लगा। वहीं कुछ अन्‍य लोगों का कहना है कि रॉकेट के अंदर से मीथेन गैस लीक हुई है। यह रॉकेट टेक्‍सास स्थित स्‍पेसएक्‍स के बोका चिका से उड़ा था और उसी रास्‍ते पर बढ़ रहा था जिस रास्‍ते पर एसएन 8 और एसएन 9 आगे बढ़े थे।

एसएन8 और एसएन9 लैंड करते समय विस्‍फोट के बाद नष्‍ट हो गए थे। एसएन10 रॉकेट में तीन इंजन लगे थे और अंतरिक्ष की ओर बढ़ते समय इनमें से दो इंजन एक-एक करके अलग हो गए। मात्र 4 मिनट में एसएन10 रॉकेट आकाश में 6 मील की ऊंचाई तक पहुंच गया। वहां कुछ देर तक चक्‍कर काटने के बाद रॉकेट अपने एक इंजन की मदद से सफलतापूर्वक धरती पर लौट आया लेकिन उतरने के बाद उसमें विस्‍फोट हो गया।

https://twitter.com/thejackbeyer/status/1367266013679661057?s=20

एसएन8 और एसएन9 लैंड करते समय विस्‍फोट के बाद नष्‍ट हो गए थे। एसएन10 रॉकेट में तीन इंजन लगे थे और अंतरिक्ष की ओर बढ़ते समय इनमें से दो इंजन एक-एक करके अलग हो गए। मात्र 4 मिनट में एसएन10 रॉकेट आकाश में 6 मील की ऊंचाई तक पहुंच गया। वहां कुछ देर तक चक्‍कर काटने के बाद रॉकेट अपने एक इंजन की मदद से सफलतापूर्वक धरती पर लौट आया लेकिन उतरने के बाद उसमें विस्‍फोट हो गया।

एसएन10 रॉकेट में विस्‍फोट के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन मस्‍क अक्‍सर इस तरह की घटनाओं को तेज गैरनियोजित विघटन करार देते हैं। कुछ सूत्रों का दावा है कि रॉकेट के लैंडिंग लेग बेस से जुड़े नहीं थे जिससे यह रॉकेट लुढ़कने लगा। वहीं कुछ अन्‍य लोगों का कहना है कि रॉकेट के अंदर से मीथेन गैस लीक हुई है। यह रॉकेट टेक्‍सास स्थित स्‍पेसएक्‍स के बोका चिका से उड़ा था और उसी रास्‍ते पर बढ़ रहा था जिस रास्‍ते पर एसएन 8 और एसएन 9 आगे बढ़े थे।

यह भी पढ़ें:Meteorite: स्वीडन में पहली बार गिरा उल्का पिंड, वैज्ञानिको को मिली धातु

Tags

Share this story

Around The Web

अभी अभी