Jammu Kashmir के मंदिरों पर आतंकी हमले की साजिश का पर्दाफाश, हाई अलर्ट जारी

Jammu Kashmir के मंदिरों पर आतंकी हमले की साजिश का पर्दाफाश, हाई अलर्ट जारी
Image credit: webmedia

पाकिस्तान द्वारा आतंकी संगठनों ने सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के लिए जम्मू के मंदिरों और भीड़ भाड़ वाले इलाकों को निशाना बनाने की साजिश रची है। सुरक्षा एजेंसियों को सूचना मिली है कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने की दूसरी वर्षगांठ के आसपास पाकिस्तान ड्रोन के जरिए साजिश को अंजाम दे सकता है।

आतंकवादी मंदिरों पर हमले की योजना बना रहे हैं

सीमा पार से लगातार आतंक फैलाने में लगे पाकिस्तान के आतंकी संगठन अब भारत में बड़ी आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में हैं। खुफिया सूत्रों को मिली जानकारी के अनुसार, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा भारत में सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिए जम्मू के मंदिरों पर हमले की योजना बना रहे हैं। खुफिया एजेंसियों से इनपुट मिलने के बाद जम्मू में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

5 और 15 अगस्त को आतंकी हमले की साजिश: सूत्र

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तानी आतंकी संगठन 5 अगस्त और 15 अगस्त को जम्मू में मंदिरों को निशाना बनाने का प्रयास कर सकते हैं। 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने की दूसरी वर्षगांठ हैं, जबकि 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस है। आतंकी संगठन इस मौके पर भारत को दहलाने की फिराक में हैं।

ड्रोन के जरिए साजिश को अंजाम दे सकते हैं आतंकी

पाकिस्तान ड्रोन के जरिए विस्फोटक गिरा कर साजिश को अंजाम दे सकता है, जिसे देखते हुए बॉर्डर से लेकर शहर तक सुरक्षा नाके बढ़ा दिए गए हैं। इसके बाद पाकिस्तान के साथ लगती सीमा पर सुरक्षाबलों ने गहन तलाशी अभियान चला रखा है। सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार जैश और लश्कर जैसे आतंकवादी संगठनों का फोकस अब कश्मीर की बजाय जम्मू पर ज्यादा है, जिसके लिए वो ड्रोन का उपयोग आईईडी भेजने के लिए कर रहे है।

जम्मू में दिखाई दिए पाकिस्तानी ड्रोन

पीछली रात भी जम्मू के परगवाल और साम्बा के बड़ी ब्रह्मणा, घग्वाल और बॉर्डर से सटे गांब चेलयारी में 4 जगहों पर पाकिस्तानी ड्रोन देखे गए। चिलयारी इलाके में तो सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन पर फायरिंग भी की, लेकिन ड्रोन पाकिस्तानी सीमा में वापस लौट गए। जम्मू कश्मीर पुलिस ने बीते शुक्रवार पाकिस्तान की ड्रोन वाली साजिश को नाकाम करते हुए 6 फीट लंबा और 17 किलो वजनी 6 रेडार वाला ड्रोन अखनूर सेक्टर के काहनाचक में मार गिराया था, जिससे उससे बंधी 5 किलो आईईडी बरामद की गई थी।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में बाढ़ का खतरा, युमना का पानी लाल निशान से पहुंचा ऊपर, जानें क्या है स्थित

SHARE