Fake Dry Fruits: कहीं आप तो नहीं खा रहे नकली ड्राई फ्रूट, इन तरीकों से करें पहचान

dryfruits

 Fake Dry Fruits: आजकल मार्केट में सूख मेवे भी अब नकली आने लगे हैं। इन मेवों को डाइ किया जाने लगा है। अब ड्राई फ्रूट्स को कपड़े को रंगने वाले कलर से रंगा जा रहा है जो सेहत के लिए हानिकारक साबित होता है। तो चलिए जानते हैं कैसे इन नकली मेवों की पहचान की जाए।

नकली मेवों को कैसे पहचानें

1.नकली मेवे बनाने के लिए लोग घाटिय किस्म का दूध पाउडर मिलाते हैं। इसके अलाव चूना चॉक और सफेद केमिकल्स मिलाते हैं. वहीं नकली मेवे बनाने के लिए लोग दूध में यूरिया यहां तक कि डिटर्जेंट पाउडर भी मिला देते हैं।

2. नकली मावा में शकरकंद, सिंघाड़े का आटा, मैदा या आलू भी मिलाते हैं। मावे का वजन बढ़ाने के लिए आलू और स्टार्च मिलाया जाता है।  

3.नकली मेवे की पहचान के लिए आप उन्हें चीनी डालकर गैस पर गरम कर लें अगर ये पानी छोड़ने लगे तो समझ जाइए ओरिजनल नहीं है।

4.मावे की असलियत की पहचान के लिए उन्हें अंगूठे पर रगड़कर देखें। अगर उसमें घी की महक आए तो समझ जाओ वह असली अगर नहीं तो नकली।

5. नकली मेवे की एक और पहचान होती है उसमें कच्चे दूध की महक आती है। असली मावा मुंह में चिपकता नहीं है जबकि नकली के साथ ऐसी नहीं है।

ये भी पढ़ें: Health Tips:  डायबिटीज  कंट्रोल साथ वजन कम करने में मददगार है दालचीनी का पानी, जानें इसके गजब के फायदे