जानें किस उम्र में सही है मां बनना, ज्यादा उम्र में प्रेग्नेंसी से हो सकते हैं ये बड़े नुकसान

pragnant women
Image credits: Pexels

एक वैवाहिक जीवन की मजबूत नींव बेहतर फैमिली प्लानिंग पर टिकी होती है. देखा जाता है कि एक महिला और पुरुष खुद को सक्षम बनाने के बाद ही बच्चे की जिम्मेदारी के बारे में सोचते हैं.

इन स्थितियों को देखते हुए ज्यातर लोगों के मन में यह सवाल आ सकता हैं एक बच्चे के जन्म के लिए सबसे बेहतर उम्र क्या होती है? कहीं बढ़ती उम्र भविष्य में उनके माता-पिता बनने के रास्ते में अड़चन तो नहीं बन जाएगी? इस सभी सवालों के जवाब जानते हैं.

20 के बाद है सही उम्र

विशेषज्ञों का कहना है कि 20 साल की उम्र के आ‍खीरी वर्षों और 30 साल की उम्र के शुरुआती वर्षों में कंसीव करना सबसे सही रहता है. सही उम्र में मां बनने के फायदे मां और शिशु दोनों को मिलते हैं. एक अध्‍ययन में बताया गया है कि पहला बच्‍चा करने की सबसे सही उम्र साढे तीस साल होती है. वहीं मां बनने के लिए उम्र के अलावा और भी कई बातें जरूरी होती हैं जैसे कि मानसिक और आर्थिक रूप से बच्‍चे के लिए तैयार होना.

​सही उम्र में मां न बनने पर

कुछ महिलाएं शारीरिक रूप से मां बनने के लिए तैयार होती हैं लेकिन आर्थिक और भावनात्‍मक रूप से तैयार नहीं होती हैं. ऐसे में उन्‍हें मां बनने के लिए इंतजार करना पडता है. हालांकि, इस स्थिति में महिलाओं को इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि एक उम्र के बाद प्रेगनेंट होने की संभावना बहुत कम रह जाएगी. बता दें कि 51 की उम्र के बाद शरीर में हार्मोंस में गिरावट आती है इसलिए इस उम्र से पहले कंसीव कर लेना चाहिए.

30 से 39 साल के बीच

बात करें 30 से 39 उम्र की तो इस पड़ाव पर गर्भधारण में साधारण तौर पर 62 से 54 प्रतिशत तक संभावनाएं रहती हैं. वहीं आईवीएफ (कृतिम तरीके से गर्भ धारण) की बात करें तो उम्र के इस पड़ाव पर महिलाओं में गर्भधारण की संभावनाएं लगभग 28 से 18 प्रतिशत तक ही रह जाती हैं.

ये भी पढ़ें: इन योगासन से पाएं बॉलीवुड एक्ट्रेस Ileana D’Cruz जैसे हॉट बेली कर्व्स