जानिए विटामिन-सी शरीर को किस तरह पहुंचाता है लाभ और क्यों है ये जरूरी ?

vitamin c
Image credits: Pexels

कोरोनाकाल में कई एक्सपर्ट विटामिन सी का इस्तेमाल करने की सलाह देते दिखें थे. जिससे कोविड मरीजों को काफी फायदा भी होता दिखा था. इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है.

बता दें कि विटामिन-सी भी सेहत के लिए बहुत जरूरी है विटामिन सी में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो शरीर के विषाक्त या हानिकारक पदार्थों को नष्ट कर उसे बाहर निकालने में मदद करता है.

इससे शरीर की प्रतिरक्षा शक्ति मजबूत होती है और साथ ही संक्रमण का जोखिम कम हो जाता है. ऐसे में जानते हैं कि विटामिन-सी शरीर को किस तरह पहुंचाता है लाभ और क्‍यों ये शरीर के लिए जरूरी है.

विटामिन सी बॉडी में करता है ये काम

विटामिन जिसमें विटामिन सी भी शामिल है एक ऑगेर्निक यौगिक हैं. विटामिन सी पानी में घुलनशील होता है और शरीर इसे स्‍टोर करके नहीं रखता है. वहीं  विटामिन सी के पर्याप्‍त स्‍तर को बनाए रखने के लिए व्यक्ति को रोज विटामिन सी से युक्‍त खाद्य पदार्थों का सेवन करने की जरूरत होती है.

विटामिन सी शरीर में कई महत्‍वपूर्ण कार्य करता है जैसे कि कोलाजन, एल-कैरनिटिन और कुछ न्‍यूरोट्रांस्‍मीटर्स का उत्‍पादन करना. ये प्रोटीन को बचाने में भी मदद करता है और इसका एंटीऑक्‍सीडेंट प्रभाव कुछ प्रकार के कैंसर के खतरे को भी कम कर सकता है.

विटामिन सी कोलाजन बनाने में मदद करता है जो कि संयोजी ऊतकों का प्रमुख घटक है और स्‍तनपाई जीवों में प्रचुरता से पाया जाने वाला प्रोटीन है. 1 से 2 फीसदी मांसपेशीय ऊतक कोलाजन होता है. ये टेंडन, लिगामेंट, त्‍वचा, कॉर्निया, कार्टिलेज, हड्डियों, पेट और रक्‍त वाहिकाओं जैसे फाइब्रस ऊतकों का प्रमुख घटक है.

क्‍यों जरूरी है विटामिन सी

विटामिन सी को खाद्य पदार्थों के माध्यम से ही प्राप्त किया जा सकता है।.आमतौर पर विटामिन सी के अच्छे स्रोत आलू, टमाटर, संतरा हैं. इनके अलावा लाल मिर्च, अनानास, स्‍ट्रॉबेरी, सेब, खट्टे रसीले फल, कच्चे फलों और सब्जियों में भी विटामिन सी पाया जाता है.

विटामिन सी की कमी के कारण कई बीमारियां जैसे मोतियाबिंद, चर्म रोग, गर्भपात, रक्ताल्पता, भूख न लगना इत्यादि हो सकती हैं. विटामिन सी शरीर को कई बीमारियों से तो बचाता ही है, साथ ही सांस संबंधी बीमारियों और पाचन संबंधी समस्याओं से भी निजात दिलाता है.