Lohri 2022: नई नवेली दुल्हन के लिए खास होता है पहला त्योहार, इस लोहड़ी न्यूली मैरिड लड़कियां रखें इन बातों का ध्यान

Shraddha Arya
Image Credit: Shraddha Arya/Instagram

Lohri 2022: भारत में लोहड़ी (Lohri 2022) का त्योहार हर साल 13 जनवरी जो काफी धूम-धाम से मनाया जाता है। साथ ही बता दें, लोहड़ी मुख्य रूप से सिख धर्म के साथ जुड़ा हुआ है। इस पर्व को मुख्‍य रूप से पंजाब, हरियाणा, दिल्‍ली, हिमाचल और कश्‍मीर के लोगों को मानते देखा जाता है। लोहड़ी के बाद से ही बसंत ऋतु के आगमन का भी संकेत मिलता है।

लोहड़ी बहुत करीब है और हम सब जानते हैं, शादी के बाद हर त्योहार नयी-नवेली दुल्हन के लिए बेहद खास होता है क्योंकि इस दिन नवविवाहित लड़कियां अपने त्योहार को यादगार और खास बनाने के लिए सजती सवरतीं हैं, तरह तरह के पकवान बनाती हैं और अपने त्योहार को स्पेशल बनाने के लिए की की काम करती हैं।

lohri 2022
Image credit: pixabay

अगर आपकी भी नई-नई शादी हुई है और इस साल आपकी पहली लोहड़ी है तो आइए हम आपको बताते हैं कि ज्योतिषाचार्य के अनुसार आपको शादी के बाद पहली लोहड़ी में किन-किन बातों का ध्यान रखना आपके और आपके शादीशुदा जीवन के लिए बेहद जरूरी हैं।

काले कपड़े बिल्कुन न पहने

अगर आपकी भी नई-नवेली दुल्हन हैं और ये आपकी पहली लोहड़ी हैं। तो आप इस बात का ध्यान रखें की आप उस खास दिन काला या गाड़े नीले रंग कपड़ा ना पहने। क्योंकि भारतीय रीती रिवाजों के अनुसार काले कपड़ों को अपशगुन माना जाता है और इसलिए इस तरह के कपड़े नई दुल्हन को खासतौर पर अपने पहले त्योहार के दिन नहीं पहनने चाहिए। 

खेल से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

तामसिक भोजन ना करें 

‘लोहड़ी’ के दिन लोहड़ी माता की पूजा की जाती है और आग के चारों तरफ फेरे लिए जाते हैं। ऐसे में आपको इस दिन किसी भी प्रकार के तामसिक भोजन जैसे मांसाहार, मच्छी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही शराब, बीयर कैसे ड्रिंक्स से परहेज करना चाहिए।

करें पूरा सोलह श्रृंगार

नई नवेली दुल्हनों को अपने पहले त्योहार पर पूरा सोलह श्रृंगार करना शुभ माना जाता है। अगर आप भी नई दुल्हन हैं तो लोहड़ी पूजन के समय नए खूबसूरत कपड़े पहने, चूड़ियां पहने, मेंहदी लगाएं अपना पूरा सोलह श्रृंगार करें।

लोहड़ी की परिक्रमा जूते-चप्पल पहन कर ना करें 

पहली लोहड़ी पर नवविवाहित जोड़े तिल, गुड़, रेवाड़ी, पॉपकॉर्न और गन्ना सबसे पहले अग्नि में चढातें हैं। साथ ही एक बार फिर लोहड़ी के चारों ओर 7 फेरे लेते है। तो ऐसा अपने जूते-चप्पल उतार कर ही करें।

ये भी पढ़ें: Lohri 2022- इस दिन रेवड़ी और मूंगफली को क्यों डाला जाता है आग में, जानिए इसके पीछे का कारण

जरूर देखें: