Diwali 2021: जानिए कब है दिवाली, लक्ष्मी और गणेश जी को खुश करने के लिए इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

Diwali 2021

Diwali 2021: पूरे देश में दिवाली का त्योहार बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. इस त्याहोर का लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं क्योंकि इस यह त्योहार हर वर्ग के लोगों के लिए बहुत ही खास होता है. दिवाली हमेशा से ही चार दिवसीय त्योहार माना जाता है क्योंकि सबसे पहले धनतेरस (Dhanteras) आती है फिर नरक चतुर्दशी (दिवाली के दिन) आती है इसके बाद गोवर्धन पूजा और फिर भाई दूज का त्योहार आता है. इसलिए ये लगातार इन त्योहारों को लेकर लोगों में उत्साह होता है. आइए बतातें हैं कि दिवाली का त्योहार क्यों खास होता है और कौन से समय पूजा करने का शुभ मुहूर्त है…

वेद पुराणों से मिली जानकारी के मुताबिक रावण का वध करने के बाद दिवाली के दिन ही प्रभु राम (Lord Rama) जी वापस अपनी नगरी अयोध्या में लौटकर आए थे. इसकी खुशी में पूरी अयोध्या सजाई जाती है. साथ ही हजारों लाखों दिए जालकर एक उत्सव मनाया जाता है. इसलिए दिए जलाना अच्छा माना जाता है. माना जाता है कि दिवाली के त्योहार पर लोगों के पास धन की कमी नहीं रहती है.

हिंदू पंचांग के मुताबिक बात करें तो इस बार दिवाली का त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या तिथि पर 4 नवंबर 2021 (गुरुवार) को मनाया जाएगा. इस दिन ही लोग धूमधां से अपने घरों में दिए जलाकर त्योहार का आनंद लें. वहीं इस दिन चंद्रमा का गोचर तुला राशि में होगा.

ये है इस बार पूजा करने का शुभ मुहूर्त

वहीं दिवाली के दिन लक्ष्मी और गणेश जी को खुश करने के लिए शुभ मुहूर्त में ही पूजा करनी चाहिए. जिससे जीवन में धन की कमी नहींं रहती है. इस बार लक्ष्मी औऱ गणेश जी की पूजा का मुहूर्त शाम 6 बजकर 9 मिनट से रात 8 बजकर 20 मिनट तक (14 नबंवर 2021) तक का है. दिवाली के दिन अमावस्या तिथि का प्रारम्भ 4 नवंबर (गुरुवार) को सुबह 06:03 बजे से हो रहा है. जबकि इसका समापन 5 नवंबर (शुक्रवार) को सुबह 02:44 बजे पर हो रहा है. इसलिए शुभ समय पर ही लक्ष्मी औऱ गणेश जी की पूजा करें.

हफ्ते के इन दिनों में क्यों नहीं काटे जाते बाल-नाखुन? जानिए कारण

ये भी पढ़ें: पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए इस कुंड में करें स्नान, जल्द ही घर में गूजेंगी किलकारियां