Pitru Paksh 2022: पितृपक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे होते हैं शुभ और अशुभ? यहां जानें

Pitru Paksh 2022
Image Credit:- thevocalnewshindi

 Pitru Paksh 2022: हिंदू धर्म में पितृ पक्ष का बेहद महत्व होता है. हर वर्ष पितृ पक्ष की शुरुआत भाद्रपद माह से होती है. इस पक्ष का अंतिम दिन अश्विन अमावस्या को माना जाता है. इस वर्ष भी पितृ पक्ष की शुरुआत 10 सितंबर 2022 से हो चुकी है. जो कि 25 सितंबर 2022 तक चलेंगे.

पितृ पक्ष में हिन्दू धर्म के लोग अपने मृत पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध व तर्पण किया करते हैं. पितृ पक्ष से जुड़ी विभिन्न मान्यताएं हैं. पितृ पक्ष का पूरा समय पितरों के लिए मनाया जाता है. लेकिन यदि इस पक्ष में किसी बच्चे का जन्म होता है तो वह शुभ होता है या अशुभ आइए जानते हैं.

Pitru Paksh 2022

पितृ पक्ष में जन्मे बच्‍चे होते हैं खास 

पितृ पक्ष के दौरान कोई भी शुभ काम करने की मनाही होती है. इन दिनों उत्सव, शादी समारोह आदि नहीं किए जाते हैं. लेकिन पितृ पक्ष में किसी बच्चे का जन्म होना बेहद शुभ माना जाता है. इतना ही नहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे बेहद रचनात्मक कला से परिपूर्ण होते हैं.

Pitru Paksh 2022

माना जाता है कि श्राद्ध पक्ष में जन्में बच्चों पर उनके पूर्वजों की विशेष कृपा रहती है. अपने पूर्वजों की विशेष कृपा प्राप्त करने के साथ ही ये बच्चे अपने परिवार के लिए भी बेहद शुभ माने जाते हैं. श्राद्ध पक्ष में जन्में बच्चों का भाग्य भी चमकता है और इनमें अपने पूर्वजों की छवि भी दिखाई देती है.

ये भी पढ़ें:- इन दिनों ब्राह्मणों के अतिरिक्त कराएं इन जीवों को भोजन, पुण्य के साथ मिलेगा विशेष लाभ

अपने बच्चों को आशीर्वाद देने आते हैं पूर्वज

हिंदू मान्यताओं के अनुसार पितृ पक्ष में मृत पूर्वज धरती पर आते हैं. धरती पर ये गाय, कौवे जीव जंतुओं का रूप धारण करके अपने बच्चों को आशीर्वाद देने के लिए आते हैं. इसलिए कहा जाता है कि पितृ पक्ष में आपको अधिक से अधिक दान पुण्य करना चाहिए. जीव जंतुओं को तंग नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से पितृ आपसे प्रसन्न रहते हैं और आपको खूब आशीर्वाद देते हैं.