Vastu For Tulsi: तुलसी में रोजाना जल डालने पर भी जीवन में बनी हुई हैं परेशानियां, तो आज ही शुरू करें इस मंत्र का जाप…

Tulsi Pujan Vidhi
Image Credit:- thevocalnewshindi

Vastu For Tulsi: हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का विशेष धार्मिक महत्व है. तुलसी का पौधा हिंदू धर्म को मनाने वाले हर व्यक्ति के घर के आंगन में मौजूद होता है. मान्यता है कि तुलसी के पौधे को नित्य पूजने से आपके ऊपर देवी लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है. क्योंकि तुलसी को देवी लक्ष्मी का ही स्वरूप माना जाता है. ऐसे में अगर आप भी रोजाना तुलसी को पानी डालते हैं. इस उम्मीद के साथ कि आपके जीवन में भी एक दिन सब ठीक हो जाएगा.

ये भी पढ़े:- सावन के पहले सोमवार पर शिव जी को चढ़ाएं ये खास फूल, हर दुःख-दर्द से मिलेगी राहत…

लेकिन इसके बावजूद आपके जीवन में सदा कोई ना कोई परेशानी बनी रहती है. औऱ आपको अपनी समस्याओं का समाधान नहीं मिल रहा है. तो हमारा आज का ये लेख आपके बेहद काम का हो सकता है. हमारे आज के इस लेख में हम आपको तुलसी में जल देते समय आपको केवल इस एक खास मंत्र का उच्चारण करना है, जिसे करने मात्र से आपके जीवन में सुख, शांति दुबारा कायम हो सकती है. तो चलिए जानते हैं…

Holy Plant

हर रोज तुलसी में जल डालते समय जरूर करें इस मंत्र का उच्चारण..

महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी
आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।

ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक, हर रोज तुलसी में पानी डालते समय यदि आप भी इस मंत्र का जाप करते हैं, तो आपको अवश्य ही लाभ होता है. इस मंत्र के जाप मात्र से व्यक्ति को अनेक तरह की गंभीर बीमारियों, कष्टों और दुखों से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाता है.

Vastu summer tips for tulsi

साथ ही उसे इस मंत्र का जाप करने पर 10000 गुना फल की प्राप्ति होती है. हालांकि जब भी आप तुलसी में जल दें, तब कुछ एक बातों का ध्यान रखकर भी आप तुलसी माता की कृपा पा सकते हैं. जैसे तुलसी को जल देते समय यदि आप एक तरफ से बिना सिला हुआ कपड़ा पहनकर तुलसी को जल देते हैं, तो आपको लाभ मिलता है. साथ ही तुलसी को जल देने से पहले अन्न ग्रहण ना करें.

Tulsi Plant

और हमेशा साफ सुथरे तरीके से ही तुलसी को जल अर्पित करें. कभी भी एकादशी और रविवार वाले दिन तुलसी को जल नहीं अर्पित करना चाहिए, इससे माता तुलसी आपसे हमेशा के लिए क्रोधित हो सकती हैं. साथ ही घर के आंगन में जहां भी तुलसी लगाएं, उसके आसपास कोई अन्य पौधा ना लगाएं.