Milky Way आकाशगंगा में से आ रहा है रहस्यमयी रेडियो सिग्नल! वैज्ञानिक भी है हैरान

Radio signal from milky way
Image Credit- Pixabay

वैसे तो हमारा ब्राह्मंड बहुत विशाल है और इसमें अनगिनत रहस्य छिपे हुए हैं. वैज्ञानिक भी इन रहस्यों को जानने के लिए रात-दिन कोशिश कर रहे हैं इसी बीच एक रहस्यमयी रेडियो सिग्नल की जानकारी मिली है और वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके जैसा एनर्जी रेडियो सिग्नल आज से पहले कभी नहीं मिला. बता दें कि यह रेडियो सिग्नल हमारी Milky Way आकाशगंगा के केन्द्र से आ रहा है. एक पेपर के अनुसार, यह कभी हफ्तों तक रेडियो स्पेक्ट्रम के रूप में चमकता है और कभी गायब हो जाता है. आज तक ऐसा कभी देखा नहीं गया. इसलिए इस रेडियो सिग्नल को लेकर गुत्थी और भी उलझती जा रही है.

Milky Way आकाशगंगा से आने वाले इस रेडियो सिग्नल को ASKAP J173608.2-321635 नाम दिया गया है. बता दें कि इस रेडियो सिग्नल को ऑस्ट्रेलिया के ( ASKAP ) टेलिस्कोप से खोजा गया है. इससे पहले किसी भी रेडियो टेलिस्कोप में यह सिग्नल नहीं दिखा. यह सिग्नल इन्फ्रारेड, एक्स-रे और विजिबल टेलिस्कोप में भी कभी नहीं दिखा. अप्रैल 2019 से अगस्त 2020 के बीच किए गए सर्वे में यह रेडियो सिग्नल ASKAP टेलिस्कोप में 13 बार देखा गया.

रिसर्चर्स का कहना है कि, पहले किए गए सर्वे में कम द्रव्यमान वाले सितारे दिखें है जो रेडियो एनर्जी में चमकते है. लेकिन उन सितारों को एक्स-रेड में डिटेक्ट किया जा सकता है. मरे हुए सितारे अपने तय समय पर स्पिन करते हैं लेकिन इनकी रोशनी कुछ घंटों तक ही डिटेक्ट कर सकते हैं, हफ्तों तक इनकी रोशनी डिटेक्ट नहीं की जा सकती है.

गैलेक्टिक रेडियो ट्रांजियंट ( GCRT ) इन रेडियो सिग्नल से मिलता-जुलता ऑब्जेक्ट है यह एक रेडियो सोर्स होता है जो चमकता रहता है और बढता जाता है कुछ समय बाद यह गैलेक्सी के केंद्र में मरने लगता है. अभी तक ऐसे कुल तीन GCRT खोजे गए हैं लेकिन वो इस नए ऑब्जेक्ट की तरह नहीं है. यह नया ऑब्जेक्ट एक रहस्य बनता जा रहा है.

यह भी पढें: ब्राह्मंड में अन्य ग्रहों पर भी हो सकता है जीवन मौजूद, Hyceans पर है सांइटिस्ट की नजर