comscore
Tuesday, December 6, 2022
- विज्ञापन -

NASA Dart Mission: एस्ट्रॉएड से टकराएगा नासा का स्पेसक्राफ्ट, जानें साइड इफेक्ट्स

Published Date:

NASA Dart Mission: अमेरिका स्पेस एजेंसी यानी नासा ने एक जरूरी खबर दी है. इसके डबल क्षुदग्रह पुननिर्देशन परीक्षण अंतरिक्ष यान (DART) 24 हजार किमी प्रति घंटा की स्पीड से एक क्षुदग्रह से टराने वाला है. ये ऐतिसाहिक घटना 26 सितंबर को घटित होगी. डार्ट नवंबर, 2021 में पृथ्वी से लॉन्च हुआ था. यह यान एक बस के आकार का है. जिसे एक खतरनाक क्षुद्रग्रह से पृथ्वी की रक्षा करने की क्षमता का परीक्षण करने के लिए बनाया गया था. जब ये क्षुद्रग्रह से टकराएगा तो इसके क्या-क्या साइड इफेक्ट्स होंगे, चलिए बताते हैं.

इस दिन समाप्त हो जाएगा NASA Dart Mission?

11 मिलियन किलोमीटर दूर किसी चीज पर सीधा प्रहार आसान नहीं होता है.क्षुद्रग्रह को असल में नासा ने इसलिए चुना क्योंकि ये अपेक्षाकृत धरती के पास ही है. ये इंजीनियर्स को प्रभाव से पहले अंतिम चरण में खुद को संचालित करने के लिए स्पेसशिप की क्षमता का परीक्षण का मौका देगा. ऐसा इसिलए क्योंकि ये स्वायक्त रूप से एक्सीडेंटियल होगा. लक्ष्य क्षुद्रग्रह को आमतौर पर डिमोफोर्स कहते हैं. ये 163 मीटर व्यास वाले एक पिंड जैसा है जो डिडिमोस नाम के 780 मीटर चौड़े क्षुद्रग्रह की परिक्रमा करता है. बाइनरी क्षुद्रग्रह प्रणाली का चयन इस वजह से किया गया जिससे डिमोफोर्स डिडिमोस के चारों ओर कक्षा में रहे. इससे इसकी कक्षा में परिणामी परिवर्तन की वदह से परिणाम मापना आसान होता है. डिमोफोर्स सिस्टम से आज के समय में पृथ्वी को कोई खतरा नहीं है.

अनजाने में छोटी बच्ची की ढूंढ लिया कुछ ऐसा जिससे NASA भी रह गया हैरान
Image credit: nasa

नासा के मुताबिक, 26 सितंबर को जब स्पेसक्राफ्ट एस्ट्रॉएड से टकराएगा उसके बाद परिक्षण किया जाएगा. वैज्ञानिकों का लक्ष्य डिडिमोस के चारों ओर डिमोफोर्स की गति में होने वाले बदलावों को उसकी कक्षीय अवधि को मापना है. वही वो समय होगा जब डिमोफोर्स डिडिमोस केसामने और पीछे से गुजरेगा और इसका समय 12 घंटे का होता है. हालांकि नासा ने इस बात का भरोसा दिया है कि इससे किसी को कोई क्षति नहीं होगी. एजेंसी के मुताबिक, इस मिशन के सबक उच्च-वेग प्रभाव के यांत्रिकी को सत्यापित करना ही है.

इसे भी पढ़ें: Sun Halo: नासा के रोवर ने देखी अद्भुत घटना, जानें सूर्य के पास क्या दिखा?

Arpit Omer
Arpit Omerhttp://hindi.thevocalnews.com
अर्पित ओमर The Vocal News Hindi में बतौर Senior Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि बिज़नेस और पॉलिटिक्स में है और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई लखनऊ यूनिवर्सिटी से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Indian Railways: अब चैन की नींद सो पाएंगे आप, रेलवे ने शुरू की ये खास सुविधा

Indian Railways: भारतीय रेलवे को भारत की लाइफलाइन कहा जाता है....

Vastu for luck: जेब में रखें इस रंग का रूमाल, हर काम में होगा लाभ ही लाभ

Vastu for luck: अधिकतर महिला अथवा पुरुष अपने साथ...