बुज़ुर्गो में बची हुई ज़िंदगी की भविष्यवाणी करेगा यह ‘कैलकुलेटर’- वैज्ञानिकों का दावा

कब जन्म होगा कब मृत्यु! ये तो ईश्वर व प्रकृति के हाथ में है, लेकिन मनुष्य की प्रकृति पर लगातार दखलंदाज़ी के बीच वैज्ञानिको ने अब मौत की भविष्यवाणी करने वाले कैलकुलेटर बनाने का दावा किया है. दरअसल, हाल ही में कुछ साइंटिस्ट्स ने बूढ़े लोगों की मृत्यु का अनुमान लगाने वाला एक ऑनलाइन कैलकुलेटर डिवेलप किया है. जिसकी मदद से छह महीनों के अंदर मृत्यु का पूर्वानुमान लगाया जा सकता है.

रिसर्चर्स ने इसे नाम दिया है RESPECT

रिसर्चर्स ने ओंटारियो में उम्रदराज लोगों के जीवन के अंतिम दौर के अनुभव की जानकारी को डेटा में बदलकर यह कैलकुलेटर डिवेलप किया है. इसे Risk Evaluation for Support: Predictions for Elder-Life in the Community Tool (RESPECT) कहा जा रहा है. इस डिवाइस को बनाने वाले रिसर्चर्स ने पाया कि बीमार होने के बाद शख्स घटी फिजिकल क्षमता से उसकी मौत का सीधा संबंध है.

अगर अचानक से किसी शख्स की बॉडी में सूजन आ रही है और साथ ही वजन कम हो रहा है या फिर उसे भूख सही से नहीं लग रही है, ये मौत के निशान है. इनकी आगे महीने में मौत की संभावना है. इस लिहाज से इंसान की मौत का हिसाब लगाया जाएगा.

डेटा 4,91,000 से अधिक उम्रदराज लोगों से जुड़ा है

यह डेटा 4,91,000 से अधिक उम्रदराज लोगों से जुड़ा है जिन्होंने चार वर्षों की अवधि के दौरान घर पर देखभाल का इस्तेमाल किया था. इसमें उन लोगों पर जोर दिया गया है. रिसर्च के दौरान लोगों से पूछा गया था कि क्या उन्हें स्ट्रोक, डेमेनशिया या हायपरटेंशन जैसी बीमारियां हैं और क्या तीन महीनों में उनकी प्रति दिन के कार्य करने की क्षमता कम हुई है.

कनाडा के ओटावा यूनिवर्सिटी और Bruy re Research Institute के इन्वेस्टिगेटर डॉ एमी हसु ने बताया कि अगर लोग जान जाएंगे तो वो अपने परिवार के साथ अच्छे से वक्त बिता पाएंगे. ये पूरी रिसर्च कनाडियाई मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में छपी. इस डिवाइस की तैयारी 2013 से हो रही थी. उस समय से लेकर 2017 तक के बीच करीब पांच लाख लोगों की मेडिकल डिटेल इसमें दर्ज है. जिसके आधार पर तय किया गया कि वो शख्स अब आगे कितने साल जिएगा.

ये भी पढ़ें: ये मास्क करेगा 90 मिनट में ‘कोरोना संक्रमण’ की पहचान, जानें क्या है इसमें ख़ास