टेस्ट मैच में शतकीय पारी खेलने वाले 5 भारतीय गेंदबाज

आपने क्रिकेट में कई बल्लेबाज़ों को शतकों की झड़ी लगाते बहुत देखा होगा लेकिन हमारी भारतीय टीम में कुछ ऐसे गेंदबाज भी जो गेंदबाज़ी के साथ-साथ बल्लेबाजी भी कमाल की करते है.

और उन्होंने टेस्ट मैचों में शानदार शतकीय पारी भी खेली है.

अनिल कुंबले

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले गेंदबाज होते हुए भी टेस्ट मैच में शतक लगा चुके हैं.

उस टेस्ट मैच में टीम इंडिया को निश्चित रूप से एक शतक की आवश्यकता थी. इन्होनें इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में शतक लगा रखा है.

उन्होंने अपनी पारी में नाबाद रहते हुए 102 रन बनाए थे.

अनिल कुंबले के अंदर बल्लेबाजी करने की काबिलियत थी, उन्होंने अपनी कई मौकों पर यह दिखाया भी है.

और यही कारण है कि इंग्लैंड के अंदर उसी के घर पर अनिल शतक लगाने में कामयाब रहे थे. 

हरभजन सिंह

पंजाब में जन्मे हरभजन सिंह भी टेस्ट में शतक जड़कर सभी के दिल के किंग बन गए थे.

हरभजन 2 बार टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाने में कामयाब रहे है.

हरभजन सिंह भारत के इकलौते ऐसे गेंदबाज़ हैं जिन्होंने कि टेस्ट क्रिकेट में दो बार शतक लगाया है और दोनों ही बार यह शतक न्यूजीलैंड के खिलाफ रहा.

2010 में अहमदाबाद टेस्ट में दूसरी पारी में 115 रन बनाए थे और उसके बाद हैदराबाद टेस्ट जो इसी सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ था यहाँ हरभजन सिंह ने 111 रन की नाबाद पारी खेली थी.

रविचंद्रन अश्विन

रविचंद्रन अश्विन भी टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम के लिए शतक लगा चुके हैं .

वेस्टइंडीज के खिलाफ अश्विन के बल्ले से शानदार शतक निकला था.

22 नवंबर 2011 को यह टेस्ट मैच मुंबई में खेला गया था. वेस्टइंडीज की टीम ने पहली पारी में 590 रन बनाए थे.

322 रनों पर टीम इंडिया के 5 विकेट आउट हो चुके थे. रविचंद्र अश्विन ने यहां पर 103 रनों की पारी खेली थी.

इस पारी में अश्विन ने दो छक्के और 15 चौके लगाए थे.

अजित अगरकर

अगरकर ने साल 2002 में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट की दूसरी पारी में 109 रनों की नाबाद पारी खेली थी.

जिस मैदान पर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर कभी शतक नहीं लगा पाए, वहां अगरकर ने ये कारनामा कर दिखाया था.

अगरकर का ये शतक उस समय पूरी भारतीय टीम के लिये किसी जीवनदान से कम नही था.

जयंत यादव

जयंत यादव भी भारतीय क्रिकेट टीम के ऐसे गेंदबाज रहे हैं जिन्होंने कि साल 2016 में मुंबई के अंदर इंग्लैंड के खिलाफ एक शतक लगा रखा है.

फर्स्ट क्लास बैटिंग एवरेज इनकी 31.68 की रही. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में यह तीन शतक और सात अर्धशतक लगा चुके हैं.

साल 2016 में इंग्लैंड की टीम भारत में पांच टेस्ट मैचों की एक लंबी श्रृंखला खेलने के लिए आई थी.

दूसरे टेस्ट मैच के अंदर जयंत यादव को पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का मौका मिला था. 

यह भी पढ़े : क्रिकेट के इतिहास में एक भी नो बॉल न डालने वाले दिग्गज गेंदबाज़