ओली रॉबिन्सन मामले में कप्तान जो रूट का बड़ा बयान, सख्ती और समर्थन दिखाते हुए कही ये बड़ी बात

इंग्लैंड की टीम हालिया समय में न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलु टेस्ट सीरीज खेल रही है. जहां लॉर्ड्स में हुए पहले टेस्ट मैच में हार की स्थिति से बाहर निकलते हुए इंग्लैंड ने बारिश और दूसरी पारी में साहसिक बल्लेबाजी की बदौलत मैच को ड्रॉ कराया.

मैच को बचाने में सफल रही इंग्लैंड टीम के लिए दूसरे टेस्ट मैच से पहले गहरा झटका लगा जब युवा पेसर ओली रॉबिन्सन को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया गया.

लॉर्ड्स (Lords) में रॉबिनसन ने डेब्यू पर ही शानदार प्रदर्शन किया. हालांकि ड्रीम डेब्यू के दौरान उनका करीब 8-9 साल पुराना ट्वीट वायरल होने लगा, जिसके बाद ईसीबी ने रॉबिन्सन को सस्पेंड कर दिया.

दरअसल 2012-13 में रॉबिन्सन द्वारा किए गए नस्लीय ट्वीट पर कार्रवाई करते हुए ईसीबी ने उनके खिलाफ ये कड़ा कदम उठाया है. हालांकि ओली इसे लेकर माफी मांग चुके हैं, लेकिन ईसीबी ने जांच होने तक उन पर पाबंदी लगा दी है.

जो रूट ने ओली रॉबिन्सन पर दी अपनी प्रतिक्रिया

ईसीबी के एक्शन के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने एक तरफ रोबिन्सन का समर्थन किया लेकिन साथ ही उन्होंने ऐसी हरकतों पर नाराजगी जताई. रूट ने अपने बयान में सख्ती और समर्थन दोनों ही दिखाया.

इंग्लैंड कप्तान ने कहा, “मैदान के बाहर जो भी हुआ वो कहीं से हमारे खेल में मान्य नहीं है. हम सभी को ये पता है. उन्होंने ड्रेसिंग रूम में इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा. उन्होंने आप लोगों और मीडिया से भी बात की और अपने किये पर पछतावा जताया. उस समय से उन्होंने बहुत पश्चाताप दिखाया. आप देख सकते हैं कि वो टीम के आसपास कैसा रहा है, ये बहुत वास्तविक है.”

जो रूट ने आगे कहा कि “मैं व्यक्तिगत रूप से उन (ट्वीट) पर विश्वास नहीं कर सका. मैं वास्तव में नहीं जानता था कि इस पर कैसी प्रतिक्रिया दी जाए. मुझे लगता है कि सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि ऑली इस ड्रेसिंग रूम का हिस्सा है और हमें उसका समर्थन करना था. हमें उसे सीखने और समझने का मौका देना था. उन्हें इससे बेहतर करने की जरूरत है.”

ये भी पढ़ें: आखिर कैसे अपमानजनक ट्वीट्स ने खत्म कर दिया इंग्लैंड के ऑली रॉबिन्सन का क्रिकेट करियर