Euro 2020: 11 जून से शुरू होगी यूरोपियन फुटबॉल की सबसे बड़ी प्रतियोगिता, दर्शकों की होगी मौजूदगी

image credit: UEFA Euro 2020/twitter

Euro 2020: यूरोपियन फुटबॉल की सबसे बड़ी प्रतियोगिता UEFA की यूरो कप 2020 की शुरुआत अगले महीने होगी. पिछले वर्ष स्थगित किए जाने के बाद अब टूर्नामेंट को 1 साल बाद 11 जून से 11 जुलाई 2021 के बीच आयोजित किया जाएगा.

11 जून को रोम के स्टूडियो ओलंपिक में तुर्की बनाम इटली के पहले मैच के साथ ही यूरोपीय चैंपियनशिप की शुरुआत हो जाएगी. गत विजेता पुर्तगाल अपने ख़िताब को बचाने के लिए ग्रुप एफ के अपने पहले मुकाबले में हंगरी से भिड़ेगा. यह मैच बुडापेस्ट में खेला जाएगा.

11 जून को फाइनल

32 देशों के इस यूरोपियन चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला 11 जुलाई को लन्दन के वेम्बली स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा. इस टूर्नामेंट में 4 टीमों की 8 ग्रुप बनी हुई है.

ग्रुप F को कहा जा रहा है ग्रुप ऑफ़ डेथ

जिसमें ग्रुप एफ (F) को “ग्रुप ऑफ डेथ” कहा जा रहा है क्यूंकि इसमें गत विजेता पुर्तगाल के साथ हंगरी, फ्रांस और जर्मनी जैसी धुरंधर टीमें शामिल हैं.

बिलबाओ के मुकाबले सेविले में शिफ्ट हुए

बता दें कि बिलबाओ में होने वाले चार मैचों को सेविले के एस्टाडियो ला कार्टुजा में स्थानांतरित किया जाएगा. इन मैचों की मेजबानी अंडालूसिया के स्वायत्त समुदाय की ओर से समर्थित है. जिसमें तीन ग्रुप ई मैचों और एक राउंड ऑफ 16 के मैच में 30% दर्शकों को अनुमति दी जाएगी.

डबलिन के मैच सेंट पीट्सबर्ग में

शुरूआती कार्यक्रम के अनुसार डबलिन में होने वाले ग्रुप ई के तीन मैचों को सेंट पीट्सबर्ग स्टेडियम में शिफ्ट किया जाएगा. जिससे सेंट पीट्सबर्ग ग्रुप बी के मैचों और एक क्वार्टर फाइनल के अलावा तीन और मुकाबलों की मेजबानी करेगा.

वही राउंड ऑफ 16 का मैच डबलिन से हटाकर लंदन के वेम्बली स्टेडियम में शिफ्ट किया जाएगा.

दर्शकों की मौजूदगी बनी वेन्यू बदलने की वजह

इन सभी मैचों को रिलोकेट सिर्फ इस वजह से की जा रही है ताकि दर्शकों की मौजूदगी स्टेडियम के अन्दर बनी रहे. इससे मार्की इवेंट में चार-चाँद लग जाएगा और खिलाड़ियों को भी खेलने में उत्साह आएगा.

यूईएफए के अध्यक्ष अलेक्जेंडर सेफेरिन ने कहा, “हम खेलों में एक सुरक्षित और उत्सवपूर्ण माहौल सुनिश्चित करने के लिए मेजबान संघों और स्थानीय अधिकारियों के साथ लगन से काम कर रहे हैं और मुझे वास्तव में खुशी है कि हम राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के जश्न के लिए पूरे महाद्वीप में सभी मैचों में दर्शकों का स्वागत करने में सक्षम हैं.”

ये रहें यूरो-2020 के आठ ग्रुप

  • ग्रुप ए: इटली, स्विट्जरलैंड, तुर्की, वेल्स
  • ग्रुप बी: बेल्जियम, रूस, डेनमार्क, फिनलैंड
  • ग्रुप सी: यूक्रेन, नीदरलैंड, ऑस्ट्रिया, उत्तरी मैसेडोनिया
  • ग्रुप डी: इंग्लैंड, क्रोएशिया, चेक गणराज्य, स्कॉटलैंड
  • ग्रुप ई: स्पेन, पोलैंड, स्वीडन, स्लोवाकिया
  • ग्रुप एफ: जर्मनी, फ्रांस, पुर्तगाल, हंगरी