Mumbai Test तय करेगा Virat Kohli टीम इंडिया के कितने दिन कप्तान रहेंगे ?

न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत का पहला मैच विराट कोहली और केएल राहुल, रोहित शर्मा और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ियो की ग़ैर-मौजूदगी में ड्रॉ हुआ।

जीत के लिए दूसरी पारी में 284 रन की तलाश में उतरी न्यूज़ीलैंड के नौ विकेट, 89.2 ओवर में 155 रन के स्कोर पर गिर चुके थे। लेकिन दसवें विकेट के लिए अंतिम जोड़ी के रूप में रचिन रविंद्र ने 91 गेंदों पर दो चौकों की मदद से नाबाद 18 और एजाज़ पटेल ने 23 गेंदों पर नाबाद दो रन बनाकर मैच को ड्रॉ करा दिया।

भारत के कप्तान अजिंक्य रहाणे के नेतृत्व में भारत के खिलाड़ियों ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ दमदार प्रदर्शन किया। इस मैच में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन अय्यर का रहा। श्रेयस अय्यर पहले ही टेस्ट मैच में शतक और अर्धशतक बनाने का कारनामा करने वाले भारत के पहले बल्लेबाज़ बन गए। जिन्होंने पहली पारी में 105 और दूसरी पारी में 65 रन बनाए। वहीं अक्षर पटेल ने पहली पारी में पांच विकेट झटके।

अब मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में दूसरा टेस्ट मैच विराट कोहली की नियमित कप्तान के रूप में वापसी भी होगी। इस मैच का सबसे अहम सवाल यह है कि अगर अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा को टेस्ट टीम से निकाल दिया गया तो इनकी जगह कौन लेगा?

दोनों ही खिलाड़ी का मैच में फॉर्म ख़राब रहा है। विराट कोहली भी पिछले दो साल से ख़राब फॉर्म से जूझ रहे हैं हालांकि उनका रिकॉर्ड फिर भी इतना बुरा नहीं है।

अब बात विराट कोहली की, विराट टी20 क्रिकेट के फॉर्मेट का कप्तानी छोड़ी चुके हैं। वहीं साथ ही चयनकर्ता नहीं चाहेंगे कि टेस्ट और वनडे के कप्तान एक ही हो। अब अगर लाल गेंद वाली क्रिकेट में रन ना बने और अपेक्षित परिणाम भी ना निकले तो कप्तान पर उंगलियां तो उठेंगी ही।

विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि उन्होंने कोई भी आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता है। विराट अपनी फॉर्म में मुंबई में ही लौटें ताकि दक्षिण अफ्रीका के लिए तैयार हो सकें, ऐसे में मुंबई टेस्ट मैच उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

ये भी पढ़ें: भारत के किस पूर्व गेंदबाज़ ने लगाया खुद के साथ रंगभेद का आरोप?