Tokyo Olympics: रजत पदक विजेता मीराबाई चानू के लिए अभिनव बिंद्रा ने लिखा दिल छू लेने वाला पत्र

tokyo olympics

Tokyo Olympics: अभिनव बिंद्रा ने टोक्यो ओलंपिक में रजत जितने वाली मीराबाई चानू को दिल छू लेने वाला पत्र लिखा है. ओलंपिक खेलों में भारत से एकमात्र व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ने अपने पत्र के जरिये मीराबाई चानू को (Koo) बधाई दी. बता दें 26 वर्षीय भारोत्तोलक ने शनिवार को रजत जीतते हुए खेलों में इतिहास की पटकथा लिखी.

चानू ने 49 किग्रा में रजत पदक जीतकर नया कीर्तिमान स्थापित किया. वह इस स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय वेटलिफ्टर बनी. उनसे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने साल 2000 में सिडनी ओलंपिक के दौरान कांस्य पदक जीता था.

पदक तालिका में भारत का खाता खुला

आज खेलों के पहले दिन ही पदक तालिका में 1 रजत पदक के साथ भारत का खाता खुल गया. 26 वर्षीय मीराबाई चानू 84 किग्रा और 87 किग्रा भार को उठाने में सफल रही, लेकिन, 89 किग्रा का वजन उठाने में विफल हुई. जिसके बाद वह स्नैच में दूसरे स्थान पर पहुंची. वही इस स्पर्धा में चीन की एचओयू झिहू ने ओलंपिक रिकॉर्ड बना डाला. चीन की झिहू ने 94 किग्रा भार उठाकर गोल्ड पर कब्जा जमाया.

यह उनके और देश के लिए एक अविस्मरणीय क्षण था क्योंकि मीराबाई के चेहरे पर मुस्कान खिल गई थी, यहां तक कि उन्होंने अंतिम क्लीन एंड जर्क प्रयास में कानूनी लिफ्ट दर्ज नहीं की थी. मीराबाई को पता था कि उन्होंने बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की है. उन्हें पता था कि रियो (Rio) ओलंपिक में 5 साल पहले के ख़राब प्रदर्शन को वह बदल चुकी हैं.

मीराबाई को पता था कि उन्होंने महामारी के चलते कठिन समय से गुजर रहे देश में लाखों लोगों के चेहरों पर मुस्कान डालने के लिए यह बड़ा कारनामा किया है. ओलंपिक में पदक अपने नाम करते ही मीराबाई के लिए बधाई संदेश आने शुरू हो गए.

सोशल मीडिया पर साझा किया पत्र

मीराबाई के प्रयासों से प्रेरित होकर पूर्व ओलंपियन और भारत के लिए ओलंपिक गोल्ड जीत चुके अभिनव बिंद्रा ने भी महिला वेटलिफ्टर की तारीफों के कसीदे पढ़े हैं. बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता ने सोशल मीडिया पर एक दिल छू लेने वाला पत्र साझा किया जो उन्होंने मीराबाई के लिए लिखा.

बिंद्रा ने दी बधाई

अभिनव बिंद्रा ने भारत की योद्धा लड़की को पत्र साझा करते हुए अपनी पोस्ट में लिखा, “Tokyo2020 में भारत का पहला पदक जीतने पर @mirabai_chanu को  Koo कई बधाई. ऐसा प्रेरक प्रदर्शन जो आने वाले लंबे समय तक याद रखा जाएगा और पीढ़ियों को प्रेरित करेगा. अच्छा किया. “

ये भी पढ़ें: सौरभ चौधरी ने किया निराश, 10 मीटर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में पदक से चूके

SHARE