‘द्वि-राष्ट्र’ समाधान से ही हल होगा; इजराइल-फिलिस्तीन संघर्ष: जो बाइडेन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शुक्रवार को गाजा के पुनर्निर्माण के प्रयासों को संगठित करने में मदद करने का वादा किया और कहा कि इजरायल के साथ-साथ फिलिस्तीनी राज्य बनाना संघर्ष का “एकमात्र उत्तर” है. बाइडेन ने यह भी कहा कि उन्होंने इजरायलियों से कहा था कि वे यरुशलम के फ्लैशपॉइंट शहर में “अंतरसांप्रदायिक लड़ाई” को रोकें.

‘मेरी प्रतिबद्धता में कोई बदलाव नहीं हुआ है’

बाइडेन ने अमेरिका की यात्रा पर पहुंचे दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन के साथ जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मेरी प्रतिबद्धता में कोई बदलाव नहीं हुआ है, इजराइल की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्धता, कोई तर्क-वितर्क नहीं. कोई बदलाव नहीं, कोई भी नहीं, लेकिन मैं आपको बताता हूं एक बदलाव हो सकता है. यह बदलाव कि हमें अब भी द्वि-राष्ट्र समाधान की जरूरत है. यही एकमात्र रास्ता है. मेरा मानना है कि हम अब आगे बढ़ सकते हैं, मेरा पहले भी यही मानना था, संघर्षविराम पर बातचीत से पहले ही’

बता दें कि दो-राज्य समाधान का विचार- इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष को समाप्त करने के उद्देश्य से दशकों की अंतरराष्ट्रीय कूटनीति की आधारशिला रही है. इसके तहत इजरायल और एक अलग संप्रभु फिलीस्तीनी राज्य बनाना और उनकी साझा राजधानी के रूप में यरुशलम को स्थापित करना अंतरराष्ट्रीय कूटनीति रही है.

यरूशलम में सांप्रदायिक लड़ाई को रोकना जरूरी

बाइडेन ने कहा कि उनका प्रशासन सुनिश्चित करेगा कि अमेरिका वेस्ट बैंक में सुरक्षा उपलब्ध कराता रहे. उन्होंने कहा, ‘हमने वेस्ट बैंक के लोगों के लिए सुरक्षा प्रतिबद्धता के साथ-साथ आर्थिक प्रतिबद्धता को भी नए सिरे से तैयार किया है’ बाइडेन ने कहा कि इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ अपनी बातचीत में उन्होंने इजराइल को संकेत दिया कि उसके लिए यरूशलम में सांप्रदायिक लड़ाई को रोकना बहुत जरूरी है.

ये भी पढ़ें: नेपाल राजनीतिक संकट: पीएम ओली को लगा झटका, राष्ट्रपति ने चुनाव कराने के दिए आदेश