बांग्लादेश में बवाल: मंदिरों पर उपद्रवियों ने की तोड़फोड़, तीन लोगों की मौत होने से मचा हड़कंप

Bangladesh Violence
Image Credits: Pixabay

बांग्लादेश (Bangladesh) से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. दुर्गा पूजन के दौरान उपद्रवियों ने कई मंदिरों पर हमला कर वहां तोड़फोड़ कर दी है. जिससे आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया. जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई है औऱ कई अन्य लोग घायल हो गए हैं. इस दौरान हिंसा फैलाने की कोशश भी की गई लेकिन प्रशासन ने माहौल को शांत करा दिया. अब वहां पर सरकार ने 22 जिलों में अर्धसैनिक बलों को तैनात कर सुरक्षा पुख्ता कर दी गई है.

वहीं इस मामले की जानकारी देते हुए bdnews24.com न्यूज वेबसाइट से पता चला है कि ईशनिंदा के आरोपों के बाद राजधानी ढाका (Dhaka) से करीब 100 किलोमीटर दूर कमिला में एक स्थानीय मंदिर में हमला किया गया. रिपोर्ट में कहा गया है कि चांदपुर (Chandpur) के हाजीगंज, चट्टोग्राम (Chattogram) के बंशखली और कॉक्स बाजार (Cox’s Bazar) के पेकुआ में हिंदू मंदिरों में भी तोड़फोड़ की घटनाओं के बारे में पता चला है.

इसके बाद कई लोगों के बीच हिंसक झड़प होने लगी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई और लोगों को शांत कराया. वहीं ढाका के ट्रिब्यून अखबार से जानकारी मिली कि एक समय पर हालात काबू से बाहर हो गए और कई दुर्गा पूजा स्थलों पर दंगे फैलने की कोशिश हुई. इतना ही नहीं सुरक्षा में लगे स्थानीय प्रशासन और पुलिस पर हमला किया गया है.

सुरक्षा व्यवस्था की गई पुख्ता

डेली स्टार अखबार से पता चला है कि कमिला में हुई घटना के बाद चांदपुर के हाजीगंज उपजिला में भीड़ और पुलिस के बीच बुधवार को हुई झड़प में तीन लोगों की मौत हो गई और अन्य लोग घायल हो गए हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार ने बाद में बांग्लादेश पुलिस रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) और अर्धसैनिक बल बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) की एलिट अपराध और आतंकवाद विरोधी यूनिट को काबू में करने के लिए लगा दिया गया है.

महाअष्टमी के दिन महागौरी की पूजा से मिलेंगे ये लाभ, पहने इस रंग के वस्त्र

ये भी पढ़ें: Jawaharlal Nehru भगत सिंह ने देश के पहले प्रधानमंत्री के बारे में क्या कहा था?