इस्लाम और साइंस में कोई लड़ाई नहीं, Pakistan के Prime Minister ने ऐसा क्यों बोला?

imran khan
Image credit: Twitter/ Instagram

दुनिया के बहुत सारे मुल्क में धर्म और विज्ञान का टकराव अक्सर देखने को मिल जाता है। क्योंकि किसी एक विषय पर जो विज्ञान कह रहा है वह धर्म की राय से अलग होती है। और फिर धर्म बनाम विज्ञान का मुद्दा गरम हो जाता है।

आज हम बात करेंगे पाकिस्तान मुल्क के आलाकमान इमरान खान के भाषण पर। ”अल्ला के ख़ौफ से जो कौम गर्मी में पानी नहीं पी सकती। वो कौम अल्ला के ख़ौफ से सच भी बोल सकती है। साइंस और इस्लाम में कोई लड़ाई नहीं थी।’’

धर्म और विज्ञान के इस मसले पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान सोमवार को इस्लामाबाद में अल क़ादिर यूनिवर्सिटी में एक समारोह में एक वाक़ये के संदर्भ में यह कह रहे थे।

इमरान खान अपने मुल्क की तुलना पश्चिमी देशों से करते हुए कहते हैं कि, हमारे देश के युवाओं को पश्चिमी संस्कृति अच्छी लगती है। लेकिन वो ये नहीं देख रहे हैं कि वहां धर्म की क्या स्थिति है। वहाँ चर्च क्यों बंद हो रहे हैं।

बच्चों को कम से कम अच्छे-बुरे के बारे में बताया सकता है। जो सबसे बेहतरीन काम इस्लाम धर्म को लेकर हो रहा है, कि इस आवाम को फतवे का डर नहीं है। हमारे मुल्क में जिस तरह के नेता आने चाहिए वो नहीं आ पाते।

ये भी पढ़ें: BREAKING: पाकिस्तान के पास अर्थव्यवस्था चलाने के लिए पैसे नहीं हैं