गर्मी से तपते दुबई पर हुई झमाझम ‘आर्टिफिशियल बारिश’, सूखे से मिली निजात

Screengrab

इन दिनों भारत, अमेरिका, कनाडा, चीन, ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात समेत कई देश भीषण गर्मी झेल रहे हैं तथा यहां तापमान 45 से 50 डिग्री के बीच जा रहा है. वहीं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में तापमान 50 डिग्री तक पहुंच गया है तथा इस गर्मी से तपकर लोगों और पशु-पक्षियों की मौत हो रही है. हालाँकि इस गर्मी से बचने के लिए यूएई ने आर्टिफिशियल बारिश (Artificial Rain) का नायाब तरीका इस्तेमाल किया है.

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल करके ये बारिश कराई गई है. जिसे क्लाउड सीडिंग (Cloud Seeding) भी कहा जाता है. इस नवीनतम तकनीक से बादलों को एक बिजली का झटका दिया जाता है, जो बारिश उत्पन्न करने के लिए एक साथ टकराते हैं. यूएई के राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इसका एक वीडियो भी शेयर किया है. जिसमें देखा जा सकता है कि बारिश का पानी सड़क पर गिर रहा है. बारिश के दौरान सड़क से गाड़ियां गुजर रही हैं.

मौसम विभाग की ओर से जानकारी दी गई है कि बारिश को क्लाउड सीडिंग नामक तकनीक द्वारा बढ़ाया गया जिसका उद्देश्य देश में सालाना बारिश की दर को बढ़ाने का है. UAE का क्लाउड सीइंग ऑपरेशन की बात करें तो ये देश में बारिश पैदा करने के लिए एक मिशन चलाने में जुटा है. बादलों में इलेक्ट्रिक चार्ज को छोड़ने के लिए एक ड्रोन का इस्तेमाल यहां किया गया. ये पानी की बूंदों को एकसाथ जोड़ने में मदद करता है जिसकी वजह से बारिश होती है. हालांकि, य‍ह मिशन सस्ता नहीं है. इस मिशन पर 15 मिलियन डॉलर खर्च किए गए.

ये भी पढ़ें: सऊदी में पहली बार हज के दौरान ‘महिला गार्ड्स’ की हुई तैनाती, सुरक्षा की मिली ज़िम्मेदारी

SHARE