Price Rise: अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के किराए में हुआ इजाफा, जानिए अब कितने देने होंगे रुपये

International flights
Image Credit: Pexels

Price Rise: अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का सफर करने वाले लोगों की जेब पर आर्थिक बोझ अब एक जून से बढ़ने जा रहा है. जिससे घरेलू विमान यात्रा अब महंगी हो जाएगी. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के किराए की निचली सीमा पर 13 से 16 फीसद तक का इजाफा कर दिया है. कोरोना काल में कंपनियों को हुए घाटों को पूरा करने के लिए किराए में यह बढ़ोतरी की गई है.

मंत्रालय ने अपने आदेश में बयान देते हुए कहा है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के किराए की ऊपरी सीमा में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. यह बढ़ोतरी सिर्फ निचली सीमा पर की गई है. आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का निलंबन 30 जून तक बढ़ा दिया गया है. हालांकि यात्री के किराए में यह बढ़ोतरी एक जून से लागू कर दी जाएगी.

इतने रुपये का हुआ है इजाफा

कोरोना की दूसरी लहर के कारण एयलाइंस कंपनियों का काफी नुकसान उठाना पड़ा है. जिसके कारण इस नुकसान की भरपाई करने के लिए सरकार ने यात्री किराए में इजाफा किया है. आधिकारिक आदेश में बताया गया है कि 40 मिनट तक का सफर तय करने के लिए 2,300 रुपये से बढ़ाकर अब 2,600 रुपये कर दिए गए हैं. यनि कि 300 रुपये बढ़ाए गए हैं. इसके अलावा 40 मिनट से 60 मिनट तक का सफर तय करने के लिए न्यूनतम किराया 2,900 रुपये से बढ़ाकर अब 3,300 रुपये कर दिया गया है.

आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का सफर तय करने के लिए इसी तरह 60-90, 90-120, 120-150, 150-180 और 180-210 मिनट सफर में किराए की न्यूनतम सीमा 4,000 रुपये, 4,700 रुपये, 6,100 रुपये, 7,400 रुपये और 8,700 रुपये कर दी गई है. हालांकि कोरोना के चलते अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों को 30 जून तक के लिए रोक दिया गया है.

गौरतलब है कि भारत में फैली कोरोना महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा 23 मार्च, 2020 से बंद कर दी गई हैं. इस समय केवल वंदे भारत मिशन के तहत अंतरराष्ट्रीय फ्लाइटों को उड़ाया जा रहा है. इसके अलावा एयर बबल समझौते के तहत कुछ देशों के साथ जुलाई 2020 से भी फ्लाइटों की रवानगी की जा रही है.

ये भी पढ़ें: Amazon ने 61.5 हजार करोड़ में खरीदा MGM स्टूडियो, Netflix को मिलेगी टक्कर