Success Story: फर्श से अर्श तक की सक्सेस स्टोरी, जानें कैसे भुजिया बेचते-बेचते बना लिया करोड़ों का कारोबार!

Success Story: डिजिटल भारत के दौर में हर कोई अपना कारोबार बढ़ाने की जद्दोजहद में लगा हुआ है। ऐसे कई बिजनेसमैन हैं जिन्होंने फर्श से अर्श तक का सफर तय किया है। उनमें से एक हैं बीकानेरवाला जिन्होंने बाल्टी हाथ में लेकर दिल्ली में भुजिया बेची। आज अलग-अलग जगहों पर उनकी फ्रेंचाइजी खुली हैं।

55 साल पहले बीकानेरवाला ब्रांड के मालिक 85 वर्षीय केदारनाथ अग्रवाल बीकानेर से दिल्ली आये थे। दिल्ली में उम्मीद की किरण लेकर हाथों में भुजिया बेचते थे। दिल्ली के लोगों को भुजिया काफी पसंद आई। देखते ही देखते रोज भीड़ लगने लगी। पीढ़ी दर पीढ़ी भी इसी बिजनेस को आगे बढ़ाने में जुट गए। अभी तक एक स्टोर था दिल्ली में लेकिन अब हर जगह स्टोर खुल गए हैं।

कारोबार को डिजिटल करने में बच्चों की अहम भूमिका रही। हाथों से भुजिया बनाने वाले केदारनाथ जी ने अब मशीनों से कारोबार शुरू किया। फिर फ्रेंचाइजी स्टोर खुलने लगे। ऐसे देखते-देखते चार पीढ़ियों ने बिजनेस को आसमान में पहुंचा दिया। कम्पनी ने आकर्षक पैकिंग और गुणवत्ता को बरकरार रखते हुए ग्राहकों का विश्वास जीत लिया।

इसे भी पढ़ें: Business Idea: दो महीने में ये बिजनेस आपको देगा लाखों रूपए, जानें मोटी कमाई का आसान तरीका!