Success Story: गर्भवती महिलाओं का पेट भरकर शुरू किया नेक काम, पुण्य के साथ कमाए लाखों रूपए

Success Story: बढ़िया सेहत के लिए पौष्टिक आहार लेना बहुत जरुरी है। हर मर्ज की दवा होती है पौष्टिक खाना और इसी की तर्ज पर कोटा में रहने वाली अल्पना तिवारी आयुर्वेद में विश्वास करती हैं। अल्पना ने मात्र 20 हजार रूपए से नुस्खा किचन शुरू किया था। इसका उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक खाना देना था लेकिन देखते ही देखते करीब एक हजार से ज्यादा ऐसी महिलाएं जुड़ गईं। तेजी से बढ़ रहे कारोबार लाखों रूपए में पहुँच गया।

अल्पना खुद दो बार गर्भवती होने के साथ अपने पौष्टिक लड्डू और सादा खाना खाती थी जिससे उनके काफी अच्छे परिणाम मिले। अब उन्होंने अन्य गर्भवती महिलाओं के लिए ये सेवा करनी शुरू कर दी और अपने कारोबार का विस्तार कर लिया। जब ये बात अस्पतालों में पता चली तो कई डॉक्टरों ने मरीजों को अल्पना का खाना खाने की सलाह दी।

निस्ख किचन की सफलता के पीछे अल्पना की कड़ी मेहनत और विनम्र स्वाभाव जिसके बदौलत आज लाखों में कारोबार हो रहा है। पारम्परिक खाना खाने से स्वास्थ्य पर बहुत ही सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और गर्भवती महिलाओं की सेवा भी करने का सुअवसर मिलता है।

इसे भी पढ़ें: Canara Bank EMI New Rules: कार और घर के लोन पर बढ़ी ब्याज दर, आम आदमी की जेब पर हुआ असर