comscore
Sunday, February 5, 2023
- विज्ञापन -
Homeबिजनेससरकार की इस स्कीम के तहत हर महीने आपको होगा मुनाफा, अच्छे रिटर्न के साथ पैसा भी सुरक्षित 

सरकार की इस स्कीम के तहत हर महीने आपको होगा मुनाफा, अच्छे रिटर्न के साथ पैसा भी सुरक्षित 

Published Date:

केंद्र सरकार लगातार लाभकारी योजनाएँ एक के बाद एक निकाले जा रही हैं, केंद्र की मोदी सरकार के नेतृत्व में बिज़नेस सेक्टर में लोगों को वो फ़ायदा होना शुरू हो गया हैं। कोरोना काल के दौरान दुनिया समेत भारत की अर्थव्यवस्था आईसीयू में थी, लेकिन अब धीरे-धीरे फिर से भारत की अर्थव्यवस्था ने रफ़्तार पकड़ ली हैं। अगर आप आने वाले दिनों में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो पोस्ट ऑफिस लेकर आया हैं, आपके लिए बेहतरीन स्कीम।

पोस्ट ऑफ़िस की सेविंग्स स्कीम्स में आप निवेश कर सकते हैं। इन स्कीम्स में आपको अच्छा ब्याज तो मिलता ही हैं। साथ ही साथ इसमें निवेश किया गया पैसा भी पूरी तरह सुरक्षित रहता हैं, अगर आपका बैंक डिफॉल्ट होता है, तो आपको 5 लाख रुपये तक की ही राशि वापस मिलेगी। लेकिन डाकघर में ऐसा नहीं होता हैं। इसके अलावा पोस्ट ऑफिस की सेविंग्स स्कीम्स में आप कम से कम राशि में निवेश शुरू कर सकते हैं।पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग स्कीम्स में पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम अकाउंट भी शामिल हैं।

आइए इस स्कीम के बारे में आपको डिटेल में समझाते हैं:-

ब्याज दर पोस्ट ऑफिस की इस सेविंग्स स्कीम में आपको सालाना 6.6 फीसदी की ब्याज दर मौजूद हैं। जिससे आपको अच्छा खासा ब्याज मिल पाएगा। यह ब्याज दर 1 अप्रैल 2020 से लागू हो चुकी हैं। ब्याज का भुगतान मासिक आधार पर ही किया जाता हैं।

SBI Scheme
Image credit: Unsplash

निवेश की राशि
पोस्ट ऑफिस की इस स्मॉल सेविंग्स स्कीम में 1000 रुपये के मल्टीपल में निवेश करना होगा. इस स्कीम में सिंगल अकाउंट में 4.5 लाख रुपये और ज्वॉइंट अकाउंट में 9 लाख रुपये का निवेश करना होगा. व्यक्ति मंथली इनकम स्कीम में अधिकतम 4.5 लाख रुपये का निवेश कर सकता है. इसमें ज्वॉइंट अकाउंट में उसका शेयर भी शामिल है. ज्वॉइंट अकाउंट में हिस्सेदारी को कैलकुलेट करने के लिए, हर ज्वॉइंट होल्डर के पास हर ज्वॉइंट अकाउंट में बराबर हिस्सेदारी मौजूद होनी चाहिए.

कौन- कौन खोल सकते है इस अकाउंट को ?
पोस्ट ऑफिस की इस मंथली इनकम स्कीम में एक वयस्क, तीन वयस्क तक साथ मिलकर ज्वॉइंट अकाउंट, नाबालिग या मानसिक रूप से कमजोर दिमाग के व्यक्ति की ओर से अभिभावक और 10 साल से ज्यादा उम्र का कोई भी नाबालिग अपने नाम में इस अकाउंट को खोल सकता हैं।

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में आप अकाउंट को खोलने की तारीख से पांच साल की अवधि खत्म होने पर संबंधित पोस्ट ऑफिस पर पासबुक के साथ उपयुक्त ऐप्लीकेशन फॉर्म सब्मिट करा कर बंद किया जा सकता हैं। अगर खाताधारक की मैच्योरिटी से पहले मौत हो जाती है, तो अकाउंट को बंद किया जा सकता है यह केवल स्पेशल केस में हो सकता हैं और राशि उसके नॉमिनी या कानूनी उत्तराधिकारी को रिफंड कर दी जाती हैं। ब्याज का भुगतान उससे पिछले महीने तक किया जाएगा, जिसमें आपको रिफंड भी किया जाएगा।

यह भी पढ़े: Tax Saving Schemes: टैक्स में चाहते है बचत तो इस स्कीम में करे इन्वेस्ट, मिलेगा बेहतर ब्याज 

यह भी देखें:

Deepak Prajapat
Deepak Prajapathttp://hindi.thevocalnews.com
दीपक प्रजापत एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि पॉलिटिक्स, स्पोर्ट्स और बिजनेस जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई “चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय” से की हैं।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

नई दिल्ली के बीकानेर हाउस में बन कर तैयार हुआ स्कल्पचर पार्क

नई दिल्ली: नई दिल्ली के बीकानेर हाउस को राजधानी...

CAR LOAN लेने से पहले रखें इन बातों का ध्यान, पलक झपकते ही मिल जाएगा लोन

नौकरीपेशा करने वाले लोग अक्सर कार लेने की सोचते...

Best 5G Smartphone: Xiaomi लें या Redmi? Oneplus लें या Samsung? जानें कौन है बेस्ट

Best 5G Smartphone: बाजार में ऐसे तमाम स्मार्टफोन मौजूद...

IAS Interview Questions: चूहे का मंदिर भारत के किस राज्य में है? नहीं जानते तो यहां देखें जवाब

IAS Interview Questions: UPSC परीक्षा को पास कर IAS आधिकारी बनने का...

Indian Railways ने बदले नियम, महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए किया गया बदलाव

Indian Railways: ट्रेन (Train) को भारत की लाइफलाइन माना जाता है।...

Sapna Choudhary पर दर्ज हुआ केस,हो सकती है जेल, जानें क्या है पूरा मामला

FIR Against Sapna Choudhary:  सबको अपने जबरदस्त डांस से...

Pervez Musharraf Death: मुशर्रफ के एक आदेश की वजह से भारत करने वाला था परमाणु हमला

  Pervez Musharraf Death: पाकिस्‍तान के तानाशाह रहे और पूर्व...