Jamun Cultivation: जामुन लगाने के लिए क्या है सही मौसम, जानिए कैसे कर सकते हैं लाखों की कमाई?

jamun cultivation

जामुन एक सदाबहार वृक्ष है, जिसे हिंदुस्तान में देशी फसल के नाम से जाना जाता है।भारत में जामुन की खेती (Jamun Cultivation)ज्यादातर गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, आसाम और तमिलनाडु राज्यों में होती है।जामुन के फल स्वादिस्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी होते है। इसके फलों का जेली, शराब, जैम और शरबत बनाने के लिए एवं कई तरह के दवाई बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है, जिस वजह से इसकी मांग भी काफी बढ़ गयी है।

Jamun Cultivation के लिए कौनसी जमीन है उपयोगी?

जामुन की खेती कठोर और रेतीली मिटटी में नहीं होती है। हालांकि जामुन का पेड़ सख्त होने के कारण इसको कई तरह की मिट्टी जैसे की पुअर, सोडिक, नमकीन, चूने वाली और दलदली मिट्टी में उगाया जा सकता है। लेकिन ज्यादा पैदावार के लिए जल निकासी वाली दोमट मिट्टी उपयुक्त मानी गयी है। वहीं खेत का pH 5 – 8 के बीच में होना चाहिए।

जलवायु और तापमान

जामुन के लिए उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण जलवायु वाली जगह अच्छी मानी जाती है। भारत में जामुन की खेती किसी (Jamun Cultivation)भी जगह हो सकती है, सिवाय ठंडी जगहों को छोड़ के क्यूंकि सर्दीयों में पड़ने वाला पाला इसको नुकसान पंहुचा सकता है।बेहद ज्यादा गर्म मौसम भी इसे नुकसान पंहुचा सकता है, और फूल बनने के दौरान बारिश फूलो को नुकसान पंहुचा सकती है। लेकिन फल पकने में बारिश का ख़ास योगदान होता है।इस हिसाब से अगर देखा जाए तो ने बागान लगाने के लिए जून, जुलाई और अगस्त का महीना सबसे अच्छा होता है।

Jamun
source: pexels

जामुन की उन्नत किस्में

जामुन की कई किस्में हैं जैसे की राजा जामुन, सी.आई.एस.एच. जे – 45, री जामुन, कोंकण भादोली, गोमा प्रियंका, काथा, भादो, सी.आई.एस.एच. जे – 37, नरेंद्र 6, जत्थी और राजेन्द्र 1 हैं। इन सभी जामुन की किस्मों के अलग-अलग गुण है और इनको अलग-अलग स्थान पर लगाया जाता है।

Jamun Cultivation से कितनी होगी कमाई?

1 पौधे से लग-भग 80 – 90 किलो जामुन प्राप्त हो जाती है। 1 एकड़ में लग-भग 100 से ज्यादा पेड़ लगाए जा सकते हैं, जिनका कुल उत्पादन 10,000 किलो तक हो सकता है। जामुन का बाजार भाव 80 100 के बीच रहता है इस हिसाब से एक एकड़ से एक बार में लगभग 8 से 10 लाख रुपए तक की कमाई हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें: Business Idea – लहसुन की खेती से मालामाल होने का सुनहरा मौका,बिना देर किए जानिए कैसे करना है शुरू