जब पी वी नरसिम्हा राव के पास वाजपेयी का शिकायत लेकर पहुंच गए थे मनमोहन सिंह

पी वी नरसिम्हा राव की सरकार थी वित्त मंत्री डॉ मनमोहन सिंह। संसद में एक वार जब मनमोहन सिंह ने बजट भाषण पढ़ा तो चर्चा के दौरान विपक्षी नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने कई अनर्गल और अपमानजनक टिप्पणियां कर दी। मनमोहन सिंह को टिप्पणियां पसंद नही आई वह सीधे प्रधानमंत्री नरसिंहाराव के पास पहुंचे।

मनमोहन सिंह ने नरसिंहाराव से कहा कि मैं इस तरह के अनर्गल आरोप सुनने के लिए वित्त मंत्री नही बना हूँ, आप मेरा इस्तीफा ले लीजिए। नरसिंहाराव के पैर के नीचें की जमीन खिसक गई।

पीएम राव ने तत्काल अटल जी को फोन मिलाया और कहा अरे यार आप कुछ भी बोल देते हैं मनमोहन सिंह इस्तीफे पर अड़े हैं। अटल अवाक थे वो तत्काल मनमोहन सिंह से मिलने पहुंचे।

अटल जी ने मनमोहन सिंह से विनम्रता से कहा “मैंने संसद में जो कहा वह राजनैतिक लाभ के लिए थे, देश को आप जैसे वित्त मंत्री की जरूरत है। मैं अपने शब्द वापस लेता हूँ ,इस्तीफा न दें।” इस घटना के बाद अटल और मनमोहन हमेशा बेहद अच्छे दोस्त बन गए।

ये भी पढ़ें: जेएनयू की स्नेहा दुबे को जानबूझकर इमरान को जवाब देने के लिए चुना गया, जानिए डिटेल में पूरी स्टोरी