जब Atal Bihari Vajpayee ने Ram Vilas Paswan से कहा था- ‘ब्राह्मणों के बहुत खिलाफ हैं आप’

Atal Bihari Vajpayee Ram Vilas Paswan
Image credits: Wikipedia

यह कहानी 1982 की है। 1979 में मोरारजी देसाई ने मंडल कमीशन मुद्दे पर वीपी मंडल की अध्यक्षता में एक आयोग गठित किया। लेकिन फिर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। तब रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने इस मुद्दे को कई बार संसद में उठाया।

ऐसे ही लोकसभा में मंडल कमीशन पर बहस हो रही थी। 11 और 12 अगस्त दोनों दिन संसद मंडल कमीशन के पक्ष में और विपक्ष में संसद अपनी अपनी राय दे रहे थे। रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) दोनों दिन ब्राह्मणवाद और मनुवाद के खिलाफ बोलते रहे। कहां जाता है दोनों दिन मिलाकर 18 घंटे इस मुद्दे पर बात हुई थी।

Atal Bihari Vajpayee ने Paswan से क्या कहा?

रामविलास पासवान की जीवनी (रामविलास पासवान- संकल्प, साहस और संघर्ष) के मुताबिक, रामविलास पासवान को पहले दिन का मौका मिला तो दूसरे दिन वह उतने ही जोश और साहस से बोले। दूसरे दिन जब रामविलास पासवान मंडल आयोग की सिफारिश पर अपना पक्ष रख कर बैठे तभी बगल में बैठे अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) न धीरे से पासवान से मजाकिया और अपने अंदाज और लहजे में कहा, ‘पासवान जी ब्राह्मणों के बहुत खिलाफ हैं आप।’

आपको जानकारी दे दें कि मंडल ने अपनी रिपोर्ट में करीब 3900 जातियों को पिछड़े वर्ग में रखा था। वहीं, काका कालेकर की रिपोर्ट में 2900 जातियों को इस श्रेणी में रखा गया था।

ये भी पढ़ें: महिलाओं की इज्जत लूटते समय भोजपुरी में गाली दी जाती थी, पूर्व मुख्यमंत्री ने दिया अजीबोगरीब बयान

SHARE