Numerology: इस तारीख को जन्मे व्यक्ति होते हैं बेहद भाग्यशाली, बेहद ही कम समय में चढ़ जाते हैं सफलता की सीढ़ी…

Numerology
Image Credit:- thevocalnewshindi

Numerology: ज्योतिष शास्त्र में अंक ज्योतिष का भी विशेष महत्व है. अंक ज्योतिष के माध्यम से व्यक्ति के व्यवहार, कार्य कुशलता और भविष्य से जुड़ी बातों की गणना की जाती है. ऐसे में अंक ज्योतिष आपके जन्म की तारीख से आपके बारे में काफी कुछ बताती है. जिससे आप अपने भविष्य और व्यवहार से जुड़े आंकलन कर सकते हैं. अंक ज्योतिष में मौजूद मूलांक जोकि आपकी जन्म तारीख को जोड़कर निकाला जाता है, उसके आधार पर भी आपके भविष्य को लेकर भविष्यवाणियां की जाती हैं. अंक ज्योतिष में मूलांक 1 से लेकर 9 तक होते हैं, जोकि व्यक्ति के भविष्य और व्यवहार को लेकर टिप्पणी करते हैं. जिसके चलते आज हम आपको एक ऐसे मूलांक के बारे में बताने वाले हैं. जिस तारीख को जन्मे लोग जीवन में खूब तरक्की करते हैं, और हर क्षेत्र में धन अर्जित करते हैं. तो चलिए जानते हैं…

ये भी पढ़े:- इस तारीख में जन्मे लोग करियर के मामले में होते हैं बेहद ही भाग्यशाली, पाते हैं मनपसंद नौकरी…

कौन सा है वह मूलांक, जिसमें जन्मे लोग होते हैं बेहद भाग्यशाली

आज हम जिस मूलांक की बात कर रहे हैं. वह है मूलांक 4. यानि अगर आपका जन्म किसी भी महीने की 4, 13, 22 या 31 तारीख को हुआ है. तो आपका मूलांक 4 है. इस मूलांक के जातक अगर कड़ी मेहनत करते हैं, तो इन्हें जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलनी तय है. अंक ज्योतिष के अनुसार, अगर 4 मूलांक के लोग सही दिशा में प्रयासरत रहें, तो इन्हें खूब तरक्की मिलती है.

ये लोग सदैव अपने कार्य और व्यवहार के कारण दूसरों के सामने प्रशंसा का पात्र बनते हैं. इस मूलांक के लोग मित्र भी बहुत जल्दी बनाते हैं, और इनके दुश्मन भी जल्दी बनते हैं. इन्हें समाज सुधारक के रूप में भी पहचान मिलती है, और साथ ही समाज में ये काफी प्रतिष्ठा पाते हैं. इस मूलांक के जातक खुलकर जिंदगी जीने में विश्वास रखते हैं.

साथ ही दूसरे के मन की बातों को जानना इनके लिए काफी आसान है. ये बातचीत में काफी बेहतर होते हैं, जिस कारण अक्सर लोग इनके मुरीद हो जाते हैं. और ये दूसरों से काम निकलवाने में भी काफी अच्छे होते हैं. ये दोस्ती यारी में धन खर्च करते समय बिल्कुल भी नहीं सोचते, और जीवन में कभी भी धन की कमी से नहीं जूझते हैं. इन जातकों पर देवी लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है.