comscore
Tuesday, January 31, 2023
- विज्ञापन -
HomeराशिफलSawan 2022: कैसे हुई शिवलिंग की स्थापना? और शिव जी ने लिया लिंगम अवतार, जानिए

Sawan 2022: कैसे हुई शिवलिंग की स्थापना? और शिव जी ने लिया लिंगम अवतार, जानिए

Published Date:

Sawan 2022: सावन का महीना प्रमुख रूप से भगवान शिव की आराधना का महीना माना जाता है. इस महीने में प्रमुख रूप से शिव भक्त शिव जी को खुश करने के लिए संपूर्ण तन, मन और धन से उनकी आराधना करते हैं. इतना ही नहीं, शिव जी के स्वरूप शिवलिंग का भी पूर्ण श्रद्धा के साथ रुद्राभिषेक करते हैं.

ये भी पढ़े:- सावन के पहले सोमवार पर कीजिए भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन

लेकिन क्या आप जानते हैं, कि भगवान शिव का ये शिवलिंग कहां और कब से अवतरित हुआ? साथ ही भगवान शिव को क्यों लेना पड़ा लिंगम अवतार. हमारे आज के इस लेख में हम आपको इसी के बारे में जानकारी देने वाले हैं. तो चलिए जानते हैं…

Sawan 2022

कैसे प्रकाश में आया शिव जी का लिंगम अवतार यानि शिवलिंग?

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, एक बार जब महर्षि भृगु तीनों लोकों में सर्वश्रेष्ठ की पहचान करने निकले. तब सबसे पहले वे ब्रह्मा जी के पास पहुुंचे. लेकिन महर्षि भृगु को जब लगा कि ब्रह्मा जी में सर्वश्रेष्ठ होने के सारे गुण मौजूद नहीं है. तब वह शिव जी के पास गए. महर्षि भृगु जब कैलाश पर्वत पर पहुुंचे.

तब उन्होंने देखा कि शिव जी अपनी तपस्या में लीन है. ऐसे में शिव जी ने जब महर्षि भृगु पर ध्यान नहीं दिया, तब उन्होंने इसे अपना अपमान समझ लिया. जिसके बाद उन्होंने शिव जी को श्राप दे दिया. कि कलियुग में भगवान शिव को कदापि नहीं पूजा जाएगा.

Sawan 2022

इस श्राप को सुनकर शिव जी ने अपना तीसरा नेत्र खोल लिया. और उसके बाद महर्षि भृगु से विनती की. वह उस श्राप को वापिस ले लें. अन्यथा सृष्टि का संतुलन बिगड़ जाएगा. ऐसे में महर्षि भृगु जोकि अपना श्राप तो वापिस नहीं ले सके.

लेकिन उन्होंने शिव जी के ब्रहमांड रूपी लिंगम अवतार को कलियुग में पूजने योग्य बना दिया. तभी से शिव जी के स्वरूप के तौर पर शिवलिंग की पूजा की जाती है. और इसका विशेष महत्व भी माना गया है.

Anshika Johari
Anshika Joharihttps://hindi.thevocalnews.com/
अंशिका जौहरी The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि विशेषकर धर्म आधारित विषयों में है, और इस विषय पर वह काफी समय से लिखती आ रही हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी, बरेली से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Pakistan: मदद की आस में बैठा रहा पाकिस्तान, IMF ने इस देश को दिए 4.7 बिलियन डॉलर

Pakistan: पड़ोसी देश पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति इतना खराब...

इन रंगों की कारों का सबसे ज्यादा होता है एक्सीडेंट, जानिए क्या है उसका कारण

क्या आप जानते हैं कि गाड़ी में ज्यादा गर्मी...

Budget 2023-24: कल पेश होगा बजट, जानें कब, कहां और कैसे देखें लाइव प्रसारण

Budget 2023-24: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) कल...