comscore
Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

Shardiya Navratri 2022: मां कालरात्रि की आराधना से टलती हैं परेशानियां, शुभ मुहूर्त में करें कामना

Published Date:

Shardiya Navratri 2022: नवरात्रि के सातवें दिन माता कालरात्रि की पूजा-अर्चना का विधान है. दरअसल नवरात्रि हिंदू धर्म का एक प्रमुख त्योहार है. जिसमें 9 दिनों तक मां दुर्गा की अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है. इस साल 2022 में शारदीय नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है.

जिसमें अब तक 6 दिन व्यतीत हो चुके हैं. कल नवरात्रि का सातवां दिन मनाया जाएगा. इस सातवें दिन में माता कालरात्रि की पूजा की जाती है. माता कालरात्रि का स्वरूप अंधकार की तरह काला है. उनके गले में माला है और बिखरे हुए बालों की शोभा में वह बिजली की तरह चमकती हैं.

माता कालरात्रि के चार हाथों में खड्ग, लोहा शस्त्र, वर मुद्रा और अभय मुद्रा है. विशेष तौर पर भूत, बुरी शक्तियों को नियंत्रित करने के लिए माता कालरात्रि की पूजा की जाती है.

आप नवरात्रि के सातवें दिन माता कालरात्रि की पूजा किस प्रकार कर सकते हैं, आइए इसके विषय में पूरी पूजा विधि, आरती और मंत्र जान लेते हैं.

Shardiya Navratri 2022

माता कालरात्रि की पूजा विधि

1. नवरात्रि के सातवें दिन प्रातः काल उठकर स्नान आदि से निवृत हो जाए.
2. इसके पश्चात अपने मंदिर को स्वच्छ करें और माता कालरात्रि की प्रतिमा को गंगाजल से स्नान कराएं.
3. धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक माता कालरात्रि को लाल रंग बेहद प्रिय होता है. अतः आप उन्हें लाल रंग के वस्त्र और पुष्प अर्पित करें.
4. माता कालरात्रि को कुमकुम का तिलक लगाएं.
5. भोग में मिष्ठान, पंचमेव, पांच प्रकार के फल और शहद का भोग अवश्य लगाएं.
6. इसके पश्चात माता कालरात्रि के मंत्रों का जाप करें.
7. माता रानी का ध्यान करते हुए उनसे अपने जीवन के बुरे प्रभावों को समाप्त करने की प्रार्थना करें.
8. इसके बाद माता रानी की आरती करके भोग परिवारजनों में वितरित कर दे.

Shardiya Navratri 2022

माता कालरात्रि के बीज मंत्र

मंत्र

एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता
लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी
वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा
वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी

मां कालरात्रि की पूजा हेतु आरती

कालरात्रि जय जय महाकाली
काल के मुंह से बचाने वाली
दुष्ट संहारिणी नाम तुम्हारा
महा चंडी तेरा अवतारा

Shardiya Navratri 2022

पृथ्वी और आकाश पर सारा
महाकाली है तेरा पसारा
खंडा खप्पर रखने वाली
दुष्टों का लहू चखने वाली

कलकत्ता स्थान तुम्हारा
सब जगह देखूं तेरा नजारा
सभी देवता सब नर नारी
गावे स्तुति सभी तुम्हारी

ये भी पढ़ें:- देवी माता को खुश करने के लिए घर लाएं ये चीजें, तुंरत मिलेगा लाभ

रक्तदंता और अन्नपूर्णा
कृपा करे तो कोई भी दु:ख ना
ना कोई चिंता रहे ना बीमारी
ना कोई गम ना संकट भारी

उस पर कभी कष्ट ना आवे
महाकाली मां जिसे बचावे
तू भी ‘भक्त’ प्रेम से कह
कालरात्रि मां तेरी जय।

Anshika Johari
Anshika Joharihttps://hindi.thevocalnews.com/
अंशिका जौहरी The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि विशेषकर धर्म आधारित विषयों में है, और इस विषय पर वह काफी समय से लिखती आ रही हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी, बरेली से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें