Vastu For kitchen: अगर आप भी इस तरह से करती हैं चकला बेलन का इस्तेमाल, तो रूठ सकता है आपका भाग्य

Vastu For kitchen
Image Credit:- unspalsh

Vastu For kitchen: आमतौर पर चकला बेलन घर में रोटी बनाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है. इसका इस्तेमाल करना तो हर कोई जानता है. लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार इसका सही उपयोग बहुत कम लोग ही जानते हैं. वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आप चकला बेलन का उचित प्रयोग नहीं करते हैं तो आपके घर में लड़ाई झगड़ा तथा अशांति फैल सकती है.

ये भी पढ़े:- 2 जून की रोटी खाई क्या? आखिर क्या है इस कहावत का मतलब, जानिए

जिस प्रकार घर में रखी वस्तुओं के लिए वास्तु शास्त्र में अनेक नियम बनाए गए हैं. उसी प्रकार चकला बेलन से संबंधित वास्तु नियम भी बनाए गए हैं. चकला बेलन का गलत उपयोग आपके घर की सुख समृद्धि को तबाह कर सकती है. ऐसे में चकला बेलन से जुड़े वास्तु नियमों को जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है.

Rumali Roti:

तो आइए जानते हैं, चकला बेलन से जुड़े खास वास्तु नियम

परिवार के दुर्भाग्य और आर्थिक समस्याओं का कारण बन सकता है चकला बेलन

यदि आप घर में चकला बेलन का उपयोग करके उसे सिंक में जूठे बर्तन के साथ मिला देते हैं तो इसका परिवार पर बुरा प्रभाव पड़ता है. घर में टूटा चकला बेलन प्रयोग करने पर लड़ाई झगडे की स्थितियां बनी रहती हैं. इसलिए आपको हमेशा खाने के बाद चकला बेलन धोकर रखना चाहिए.

व्यर्थ की चिंता से बचना है तो चकला बेलन कभी उल्टा ना रखें

यदि आप अपने जीवन में फिजूल की चिंताओं से बचकर रहना चाहते हैं तो भूल से चकला बेलन उल्टा करके ना रखें. ऐसा करने से आपके आपसी संबंध भी खराब होते हैं. इसके साथ ही रोटी बनाते समय यदि चकला बेलन आवाज करता है तो यह भी दुर्भाग्य का कारण बनता है. इसलिए आपका चकला बेलन ऐसा होना चाहिए जो रोटी बनाते समय बिल्कुल भी आवाज ना करें.

मंगलवार और शनिवार के दिन भूल से भी ना खरीदें चकला बेलन

यदि आप नया चकला बेलन लेना चाहते हैं तो ध्यान रखें कि मंगलवार और शनिवार के दिन भूल से भी नया चकला बेलन ना खरीदें. चकला बेलन खरीदने के लिए सबसे अच्छा दिन बुधवार तथा गुरुवार का रहता है. नया चकला बेलन खरीदने के लिए यह दोनों दिन शुभ रहते हैं.

flour

काला चकला बेलन बन सकता है शनि दोष का कारण

ध्यान रखें कि घर में रोटी बनाने के लिए भूल से भी काला रंग का चकला बेलन इस्तेमाल ना करें. पत्थर के चकला बेलन का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त वास्तु के अनुसार लकड़ी का चकला बेलन सबसे शुभ रहता है.

ध्यान रहें, चकला बेलन पर ना चिपका रहे आटा, यह बढ़ा सकता है आपके दुर्भाग्य को

रोटी बनाने के बाद आपके चकला बेलन पर आटा चिपका नहीं रहना चाहिए. यह दुर्भाग्य का संकेत होता है. चकला बेलन नियमित रूप से रोटी बनाने के बाद धोना चाहिए और फिर दोबारा इसका प्रयोग करना चाहिए. एक बार इस्तेमाल किए गए चकला बेलन पर दोबारा रोटी नहीं बनानी चाहिए. इस प्रकार चकला बेलन के यह वास्तु उपायों से आप वास्तु दोषों से दूर हो सकते हैं.