ओली रॉबिन्सन: युवा गेंदबाज को मिला अनुभवी एंडरसन का समर्थन, विवादित ट्वीट के लिए ईसीबी ने किया है सस्पेंड

इंग्लैंड के युवा तेज गेंदबाज ओली रॉबिन्सन को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सस्पेंड किए जाने के बाद अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने उनका बचाव किया है. इस दिग्गज गेंदबाज ने कहा कि ओली द्वारा मांगी गई माफी को टीम ने सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया है और युवा तेज गेंदबाज को पूरे टीम का समर्थन हासिल भी है.

बता दें कि न्यूजीलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में युवा रॉबिन्सन ने ड्रीम डेब्यू किया जब उन्होंने पूरे मैच में 7 विकेट झटके. हालांकि उनके डेब्यू पर वही पुराने आपत्तिजनक ट्वीट ने पानी फ़ेर दी और ईसीबी ने 2012-13 में किए गए नस्लीय ट्वीट के कारण उन्हें क्रिकेट से निलंबित कर दिया है. हालांकि इंग्लैंड का यह युवा गेंदबाज अपनी गलतियों के लिए सार्वजनिक तौर पर सभी से माफी मांग चुका है.

अंग्रेजी मीडिया से बात करते हुए एंडरसन ने तेज गेंदबाज का समर्थन किया. ओली के माफ़ीनामा को लेकर जब यह सवाल किया गया कि क्या कुछ खिलाड़ी अब भी इसे लेकर असहज हैं, एंडरसन ने इसपर कहा, “नहीं, मुझे लगता है कि इसे स्वीकार कर लिया गया है.”

उसने सबके सामने माफ़ी मांगी: एंडरसन

उन्होंने आगे कहा, ‘उसने सबके सामने माफी मांगी और आप देख सकते हैं कि वह कितना निराश था और एक समूह के रूप में हम सराहना करते हैं कि वह अब बदला हुआ इंसान है. तब से वह काफी परिपक्व हो गया है और उसे टीम का पूरा समर्थन हासिल है.”

ब्रिटेन के राजनेताओं ने भी ईसीबी से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की बात कही है क्योंकि उनके मुताबिक ओली ने वर्षों पहले किशोरावस्था में गलती की थी.

टेस्ट पदार्पण के दिन ही ट्वीट आया था सामने

बता दें कि रॉबिन्सन के लार्ड्स में टेस्ट पदार्पण के पहले दिन उनके ट्वीट सामने आए थे. टीम पर खिलाड़ी के निलंबन के असर के बारे में पूछने पर एंडरसन ने कहा, “मुझे लगता है कि यह मुश्किल समय है. मुझे लगता है कि एक टीम के रूप में हम इससे सीखने का प्रयास कर रहे हैं.” एंडरसन अगर न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में खेलते हैं जो पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक को पछाड़कर इंग्लैंड की ओर से सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे.