Tokyo Olympics: लवलीना ने रचा इतिहास, सेमीफाइनल में पहुंचकर बॉक्सिंग में भारत का मेडल किया पक्का

tokyo olympics
image credit: the bridge/twitter


Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक में भारत का दूसरा मेडल पक्का हो गया है. असम की बॉक्सर लवलीना बोरोगोहेन ने ओलंपिक में इतिहास रचा है. उन्होंने 69 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बनाई है. क्वार्टर फाइनल बाउट में भारतीय बॉक्सर ने चीनी ताइपे की निएन चिन येन को 4-1 के अंतर से पराजित किया.उन्होंने सेमीफाइनल में पहुँचकर अपना कांस्य पदक पक्का कर लिया है.

लवलीना अब विश्व की नंबर 1 बॉक्सर तुर्की की बुसानेज सरमेनेली का सामना करेंगी. बुसानेज ने यूक्रेन की एना लिसेंको को शिकस्त दी है. भारतीय बॉक्सर के लिए सेमीफाइनल का बाउट कठिन होने जा रहा है, लेकिन क्वार्टर फाइनल में उनके प्रदर्शन ने देश की उम्मीदें बढ़ा दी हैं.

चीनी ताइपे की बॉक्सर को किया चित

विश्व चैंपियनशिप में दो बार की कांस्य पदक विजेता लवलीना ने अंतिम 8 में जबरदस्त प्रदर्शन किया. उन्होंने तीनों ही राउंड में आक्रामक और रक्षात्मक बॉक्सिंग का नमूना पेश किया. अपने प्रतिद्वंदी पर एक के बाद एक ताबड़तोड़ पंचेस की बरसात करते हुए लवलीना ने चीनी ताइपे की बॉक्सर को चित किया.

तीनों राउंड भारतीय बॉक्सर के नाम

पहले राउंड में 3 जजों ने लवलीना के पक्ष में जबकि दो ने येन के पक्ष में नतीजा दिया. हालाँकि, दूसरे राउंड में येन ने आक्रामक रूप अपनाकर वापसी की कोशिश की, लेकिन शानदार डिफेंस के कारण यहाँ भी भारतीय बॉक्सर ने बाजी मारी. इस राउंड में तो पाँचों जजों ने लवलीना को विनर घोषित किया. वही मुकाबले के आखिरी के तीन मिनटों में उन्होंने अपना रक्षण भी नियंत्रित रखा और जवाबी हमले में अपने प्रतिद्वंदी पर भारी पड़ीं.

बीते साल लवलीना कोरोना संक्रमण का शिकार गई थीं। जिसके चलते वह अभ्यास करने के लिए यूरोप नहीं जा पाईं. चीनी ताइपे की खिलाड़ी निएन चिन चेन को हराने के बाद जैसे ही रेफरी ने उनका हाथ ऊपर उठाया वह खुशी के मारे फूली नहीं समाई और जोर-जोर से चिल्लाने लगीं.

इससे पहले आज बॉक्सिंग में ही भरत की सिमरनजीत कौर को हार का सामना करना पड़ा. 60 किग्रा भार वर्ग क्र क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उन्हें थाईलैंड की मंझी हुई बॉक्सर सुदापोर्न सिसोंदी ने एकतरफा 5-0 से पटखनी दी.

ये भी पढ़ें: Tokyo Olympics – इस महिला खिलाड़ी ने ‘कंडोम’ की मदद से जीता कांस्य पदक, किया खुलासा

SHARE