चीन की नई साज़िश! पूर्वी लद्दाख में लड़ाकू विमानों का बना रहा एयरबेस

Representative image

भारत और चीन के बिगड़ते रिश्तों के बीच एक बार फिर चीन के नए प्लान ने दोनों देशों के गर्माते रिश्तों का हवा देने का काम कर दिया है. दरअसल सूत्रों के मुताबिक पूर्वी लद्दाख क्षेत्र के शाकचे (Shakche) के पास शिनजियांग प्रांत में चीन लड़ाकू विमानों के ऑपरेशन्स के लिए एयरबेस तैयार कर रहा है. न्यूज एजेंसी ANI ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया है कि यह बेस काशगर (Kashgar) और होगन (Hogan) के मौजूद बेस के बीच बन रहा है.

एयरबेस की LAC से दूरी होगी कम

बीजिंग (Beijing) की मंशा इस नए एयरबेस के जरिए चीनी एयरफोर्स (Chinese Air Force) के इस क्षेत्र में बढ़ते गैप को कम करना है. वर्तमान में दोनों एयरबेस की LAC से दूरी 400 किमी की है. लेकिन शाक्चे में एयरबेस के ऑपरेशनल होने के बाद ये दूरी कम हो जाएगी. सूत्रों के अनुसार शाक्चे क्षेत्र में पहले से ही एक एयरबेस है और इसे लड़ाकू विमान संचालन के लिए अपग्रेड किया जा रहा है. सूत्र ने कहा कि बेस निकट भविष्य में लड़ाकू विमानों के संचालन के लिए तैयार होगा और इस पर काम तेज कर दिया गया है. चीन ने हाल के दिनों में सीमा पर हलचल तेज की है.

सूत्रों के अनुसार, चीन भारत को घेरने के लिए अपनी हर सीमा को सैन्‍य ताकत से मजबूत करना चाहता है. उत्‍तराखंड के बाराहोटी से लगी सीमा पर भी चीन की हरकतें बढ़ती जा रही हैं. भारतीय एजेसियों से मुताबिक चीन यहां पर कई मानवरहित एरियल वीइकल लाया है. ये लगातार सीमा पर उड़ान भरते दिखाई दे रहे हैं. हाल ही में चीन एयरफोर्स ने एक अभ्‍यास भी किया था, जिस पर भारत की नजर थी.

ये भी पढ़ें: चीन के ‘कर्ज जाल’ में फंसा यह खूबसूरत मुल्क, छोड़नी पड़ सकती है ज़मीन