चीन बना रहा है दुनिया का सबसे बड़ा बॉम्ब, अमरीकी डिफेंस को देगा सीधी टक्कर

Image credit: pixabay

चीन ने अपने डिफेंस सिस्टम को और मजबूत कर लिया है. इस देश ने एक ऐसा विशाल बम विकसित किया है, जिसे अमेरिका द्वारा निर्मित ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स’ के लिए देश का जवाब कहा जा रहा है. यह सबसे शक्तिशाली गैर-परमाणु हथियार में से एक है.

सरकारी ग्लोबल टाइम्स अखबार ने इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि चीन के रक्षा उद्योग की दिग्गज कंपनी नोरिनको ने पहली बार इस हवाई बम का प्रदर्शन किया और यह देश का सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम है.

वही The daily अखबार ने कहा कि इसकी विशाल विनाशकारी क्षमता के कारण इसे चीनी संस्करण के “मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स” करार दिया है, जिसे परमाणु हथियारों के बाद दूसरे स्थान पर होने का दावा किया जाता है.

इससे पहले चाइना नॉर्थ इंडस्ट्रीज ग्रुप कॉरपोरेशन लिमिटेड (NORINCO) द्वारा दिसंबर के अंत में अपनी वेबसाइट पर जारी एक प्रचार वीडियो में बम को H-6K बॉम्बर द्वारा गिराया गया था और इससे एक विशाल विस्फोट हुआ था.

सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, यह पहली बार है जब नए बम की विनाशकारी शक्तियों को सार्वजनिक रूप से दिखाया गया है.

Image credit: webmedia

इससे पहले अप्रैल 2017 में, अफगानिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ युद्ध छेड़ते हुए, अमेरिकी सेना ने इस्लामिक स्टेट पर GBU-43/B मैसिव ऑर्डनेंस एयर ब्लास्ट (MOAB) हथियार गिराया था, जिसे “मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स” कहा गया था.

हालांकि, चीन अपने बम के लिए एक ही उपनाम का उपयोग कर रहा है, जिसका वजन कई टन है. वही चीनी हथियार अपने अमेरिकी समकक्ष की तुलना में छोटा और हल्का है.

बीजिंग स्थित सैन्य विश्लेषक वेई डोंगक्सू ने गुरुवार को ग्लोबल टाइम्स को बॉम्ब के आकार की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि वीडियो और H-6K के “bomb bay” के आकार को देखते हुए, यह लगभग पांच से छह मीटर लंबा है.

वेई ने कहा, “बड़े पैमाने पर विस्फोट प्रबलित इमारतों, गढ़ों और रक्षा आश्रयों जैसे गढ़वाले जमीनी लक्ष्यों को आसानी से और पूरी तरह से मिटा सकता है.”

वेई ने इसके उपयोग को लेकर अपने विचार साझा किए. उनके मुताबिक बॉम्ब का उपयोग हेलीकॉप्टरों पर सैनिकों के लिए लैंडिंग ज़ोन को खाली करने के लिए भी किया जा सकता है, अगर यह क्षेत्र जंगलों जैसे बाधाओं से आच्छादित है.

वेई ने कहा कि चीनी बम अमेरिका से छोटा और हल्का है, जिससे इसे एच-6के बमवर्षक पर तैनात किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: भारतीय परिवार ने दिखाई ईमानदारी, 10 लाख डॉलर की लॉटरी टिकट महिला को लौटाई वापस