चीन ने अंतरिक्ष में तीन एस्ट्रोनॉट का भेजा पहला चालक दल, 90 दिनों तक रहेगी यात्रा

Representative image

चीन ने अंतरिक्ष मिशन में आज बड़ी छलांग लगाते हुए तियांगोंग स्पेस स्टेशन के लिए अपने पहले चालक दल के रूप में तीन अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस शिप से रवाना कर दिया है. जहां वे तीन महीने तक रहेंगे. पांच साल में चीन का यह पहला मिशन है जिसमें उसने इंसान को अंतरिक्ष में भेजा है. ये अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष यान ‘शेनझोउ-12’ में सवार हैं, जिसे उत्तरी-पश्चिम जियुक्वान प्रक्षेपण केन्द्र से सुबह नौ बजकर 22 मिनट के कुछ देर बाद प्रक्षेपित किया गया.

बताया गया है कि चीन के इस हाई-टेक मिशन का नेतृत्व 56 साल के नी हैशेंग कर रहे हैं और इन के साथ लियु बोमिंग और टेंग होंग्‍बो भी मिशन पर शामिल हैं. चीन के स्टेट टेलीविजन पर इस लॉन्च का लाइव प्रसारण दिखाया जा रहा है. गौरतलब है नी हैशेंग इससे पहले भी दो बार अंतरिक्ष के लिए उड़ान भर चुके हैं. वह 2005 में Shenzou-6 मिशन पर और फिर 2013 में Shenzou-6 -10 मिशन का हिस्सा रहे हैं.

दुनिया पर नज़र रखेगा चीन

बतादें देश की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के अगले महीने 100वें वर्ष पर समारोह के मद्देनजर यह मिशन शुरू किया जा रहा है. शेनझोउ-12 में जाने वाले अंतरिक्ष यात्री कोर मॉड्यूल में तैनात होंगे और तीन महीने तक कक्षा में रहेंगे। चीनी अंतरिक्ष स्टेशन के अगले साल तक तैयार होने की संभावना है.

यह अंतरिक्ष स्टेशन आकाश से चीन के लिए दुनिया पर नजर रखेगा और पुराने होते अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) से प्रतिद्वंद्विता करेगा. आईएसएस नासा (अमेरिका), रोस्कोमोस (रूस), जाक्सा (जापान), ईएसए (यूरोप) और सीएसए (कनाडा) की परियोजना है.

ये भी पढ़ें: चीन ने बनाया सूरज से दस गुना ताकतवर आर्टिफिशियल सूर्य, जानें किस तरह करता है काम