पाकिस्तान ने चीन की मदद से निर्मित स्वदेशी वैक्सीन की लॉन्च, कहा- करेंगे व्यापक उत्पादन

image credits: Social media

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पाकिस्तान ने मंगलवार को स्थानीय रूप से निर्मित वैक्सीन को औपचारिक तरीके से लॉन्च किया. पाकिस्तान ने इस होममेड वैक्सीन का नाम ‘PakVac Covid-19 Vaccine’ रखा है. नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर (NCOC) के प्रमुख असद उमर और स्वास्थ्य पर प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक डॉ फैसल सुल्तान ने स्थानीय रूप से निर्मित पाकवैक वैक्सीन के लॉन्च से संबंधित एक कार्यक्रम को संबोधित किया.

हालांकि, सुल्तान ने इस वैक्सीन की एफिकेसी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है. वहीं पाकिस्तान ने इस कोरोना वैक्‍सीन को लॉन्‍च तो कर दिया है, लेकिन उसने यह नहीं बताया है कि वैक्‍सीन कितनी प्रभावी है? कितने लोगों पर इसका ट्रायल हुआ? ट्रायल के नतीजे क्‍या रहे?

चीन की मदद से निर्मित हुई वैक्सीन

इस टीके को पाकिस्तान ने अपने सदाबहार दोस्त कहलाने वाले चीन की मदद से तैयार किया है. पाकिस्तान के स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन तैयार करने को लेकर कहा कि हम अपने दोस्तों के जरिए मुश्किलों को अवसर में तब्दील करने का काम कर रहे हैं. पाकिस्तान के स्पेशल असिस्टेंट हेल्थ डॉ. फैसल सुल्तान ने कहा, ‘हमने इस कठिन दौर में चीन को अपने करीब पाया है, जिसने कोरोना संकट से निपटने में हमारी मदद की है.’ फैसल ने आगे कहा कि वैक्सीन तैयार करने के लिए चीन की ओर से कच्चा माल उपलब्ध तैयार कराया गया था, लेकिन इसके बाद भी यह काम बहुत आसान नहीं था.

डॉ. सुल्तान ने कहा कि जल्दी ही इस वैक्सीन का बड़े पैमाने पर स्थानीय स्तर पर उत्पादन हो सकेगा. पाकिस्तान की नेशनल कमांड एंड ऑपरेशंस सेंटर के चीफ असद उमर ने कहा कि यह हमारे लिए अहम दिन है. यही नहीं पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री ने मंगलवार को वैक्सीन की लॉन्चिंग के मौके पर कहा कि हमारे देश में चीन की वैक्सीन की काफी मांग है. यहां तक कि लोग चीनी वैक्सीन को ही प्राथमिकता दे रहे हैं और एस्ट्राजेनेका जैसे टीकों को लगवाने से बच रहे हैं.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान: वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर को सेना की आलोचना पर चैनल ने किया प्रतिबंधित