पाकिस्तान ने मसूद खान को अमेरिका में बनाया अपना नया दूत, इन देशों में हो रही अलोचना

Masood Khan

अमेरिका में मसूद खान (Masood Khan) को पाकिस्तान (Pakistan) ने अपना नया दूत नियुक्त करने की घोषणा कर दी है. वहीं मसूद खान जिसे आतंकियों का करीबी माना जाता है. वहीं अब इस फैसले की अलोचना भारत के अलावा पाकिस्तान और अमेरिका में भी हो रही है. क्योंकि ये फैसला पाक सरकार पर कट्टरपंथी इस्लामिक और आतंकी संगठनों के गहरे प्रभाव को दिखा रहा है.

वहीं फाइटिंग टू द एंड, द पाकिस्तान आर्मीज वे ऑफ वॉर’ और ‘इन देयर ओन वर्ड्स : अंडरस्टैंडिंग द लश्कर-ए-ताइबा’ की लेखिका क्रिस्टीन फेयर ने एक समाचार वेबसाइट पर लेख में कहा है कि मसूद खान का कट्टपंथी इस्लामी आतंकियों के साथ में काम करने का लंबा इतिहास रहा है. फिर उन्होंने आगे कहा कि मसूद खुद एक खतरनाक कट्टरपंथी है.

इसके बाद आगे वह लिखती हैं कि मसूद हिजबुल मुजाहिदीन का समर्थक है, जिसे ट्रंप प्रशासन ने 2017 में एक आतंकवादी संगठन घोषित किया था. वह फजलुर रहमान खलील का करीबी रहा है, जिसने देवबंदी हरकत-उल-मुजाहिदीन (एचयूएम) की स्थापना की थी. फिर वह लिखती हैं कि अमेरिका ने 1997 में इस समूह को एक आतंकवादी संगठन घोषित किया और बाद में 2014 में खलील को भी वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया था.

फिर आखिरी में फेयर कहती हैं कि मसूद भारत के सशस्त्र बलों के विरोध में अनर्गल लेख और उत्तेजक बयान भी देता रहता है. इसके अलावा आतंकी बुरहान वानी को उसने नायक के तौर पर पेश किया था. वह कश्मीर के प्रति पाकिस्तान की अपनी नीतियों का मजाक उड़ाते हुए आतंकी उपायों से कश्मीर को जीतने की मानसिकता रखता है.

ISIS के निशाने पर Gautam Gambhir! मेल के ज़रिए मिली जान से मारने की धमकी

ये भी पढ़ें: 5,000 महिलाओं के साथ शीरीरिक संबंध बना चुका है ये शख्स, बूम-बूम रूम में करता है ऐश