अफ़ग़ानिस्तान: 15 वर्ष से ऊपर लड़कियों की शादी लड़ाकों से कराएगा तालिबान, मांगी सूची

Representative image

अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान अपनी सत्ता बनाते हुए 85 फीसदी हिस्से पर कब्जे का दावा कर रहा है. इस बीच ताबड़तोड़ हमले कर दहशत फैलाने वाले तालिबानियों ने अब नया फरमान जारी किया है. यह तालिबानी फरमान स्थानीय धार्मिक नेताओं को जारी करते हुए संगठन की तरफ से कहा गया है कि धार्मिक नेता उन्हें 15 साल से ज्यादा की उम्र की लड़कियों और उन विधवाओं की लिस्ट बना कर दे जिनकी उम्र 45 साल से कम है.

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान के कल्चरल कमिशन के नाम से जारी पत्र में कहा गया है कि कब्जे वाले इलाकों में सभी इमाम और मुल्ला तालिबान को तालिबान लड़ाकों से शादी करने के लिए 15 से ऊपर की लड़कियों और 45 साल से कम उम्र की विधवाओं की सूची मुहैया कराएं. रिपोर्ट्स के मुताबिक तालिबान ने वादा किया है कि वो इन लड़कियों और महिलाओं की शादी अपने लड़ाकुओं के करवाएगा और फिर उन्हें पाकिस्तान के वजीरिस्तान ले जाएगा, जहां उनका धर्म परिवर्तन किया जाएगा.

’18 साल की लड़कियों को घर में रखना पाप’

‘Financial Times’ ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि अफगानिस्तान में लोग तालिबान के दहशत की वजह से परेशान हैं। यहां लोग घरों में ऊंची आवाज में नहीं बोलते, म्यूजिक नहीं सुनते और घर की महिलाएं यहां तक की बाजार भी नहीं जाती हैं.

तालिबानियों के दहशत से परेशान अफगानिस्तान के लोगों का कहना है कि वो डरे हुए कि तालिबानी उनकी बेटियों को ले जाएंगे और उनके शादी रचाएंगे तथा उनका धर्म परिवर्तन करा उन्हें गुलाम बना कर रखेंगे। स्थानीय बुज़ुर्गो का कहना है तालिबान सब-कमांडर ने उनसे कहा कि आपको 18 साल से अधिक उम्र की लड़कियों को नहीं रखना चाहिए, यह पाप है, उन्हें शादी करनी चाहिए.’

ये भी पढ़ें: इमरान खान ने भारत-पाक संबंधो में दरार के लिए RSS को बताया ज़िम्मेदार, वीडियो वायरल