भारत में मिले कोरोना वैरिएंट्स का WHO ने रखा नया नाम, जानें

Coronavirus
Image Credit: Pixabay

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस के दो वैरिएंट B.1.617.1 और B.1.617.2 का नामकरण किया है. अब B.1.617.1 वैरिएंट को ‘Kappa’ और B.1.617.2 वैरिएंट को ‘Delta’ कहा जाएगा. बतादें, ये दोनों वैरिएंट सबसे पहले भारत में पाए गए थे. आम बोलचाल में इन वैरिएंट्स को उन देशों के नाम से भी पुकारा जाने लगा था जहां पर वो मिले. गौरतलब है इसे लेकर हाल ही में भारत ने आपत्ति जाहिर की थी.

डब्ल्यूएचओ की कोविड-19 तकनीकी मामलों की प्रमुख डॉ मारिया वान केरखोव ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के स्वरूपों के आसानी से पहचाने जाने के लिए उनका नया नामकरण किया है. इनके वैज्ञानिक नामों में कोई बदलाव नहीं होगा. हालांकि, इसका उद्देश्य आम बहस के दौरान इनकी आसानी से पहचान करना है.’

WHO ने भी प्रतिक्रिया दी थी

भारत की आपत्ति के बाद WHO ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी थी. WHO ने ट्विटर पर साझा किए गए अपने बयान में कहा था, ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन वायरस के किसी भी वैरिएंट्स को देश के नाम पर रिपोर्ट नहीं करता है. संगठन वायरस के स्वरूप को उसके वैज्ञानिक नाम से संदर्भित करता है और बाकी लोगों से भी ऐसा ही करने की उम्मीद करता है.’

संगठन ने एक बयान में कहा कि डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित एक विशेषज्ञ समूह ने वायरस के स्वरूपों को सामान्य बातचीत के दौरान आसानी से समझने के लिए अल्फा, गामा, बीटा गामा जैसे यूनानी शब्दों का उपयोग करने की सिफारिश की ताकि आम लोगों को भी इनके बारे में होने वाली चर्चा को समझने में दिक्कत न हो.

ये भी पढ़ें: वियतनाम में मिला भारत और ब्रिटेन में प्राप्त स्ट्रेन का संयुक्त कोरोना वेरिएंट, अलर्ट जारी