कम उम्र में भी हो सकता है आपको डायबिटीज, जानिए कैसे करें बचाव

कम उम्र में भी हो सकता है आपको डायबिटीज, जानिए कैसे करें बचाव
Image Source: Unsplash

यह कहना गलत नहीं होगा कि भारत में मधुमेह (Diabetes) लगभग एक महामारी की तरह हो गया है. हाल ही में जारी एक अध्ययन में कहा गया है कि मधुमेह (Diabetes) 18 वर्ष से 30 वर्ष के आयु वर्ग के भारतीयों को बहुत कम उम्र में पीड़ित कर रहा है. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 20 वर्ष से कम आयु वर्ग के 32% लोगों में शुगर का स्तर सामान्य सीमा से बाहर था. कम उम्र में हमारी खराब रहन-सहन की आदतें हमें मधुमेह (Diabetes) के प्रति ज्यादा संवेदनशील बना सकती हैं. अगर आप बड़े होने पर डायबिटीज से बचना चाहते हैं तो ये गलतियां न करें.

सुबह का नाश्ता ना छोड़े

अगर आपके पास सुबह का नास्ता करने का समय नहीं है और आप इसे छोड़ देते हैं. तो इससे आपको गंभीर स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं हो सकती हैं और आपको मधुमेह (Diabetes) हो सकता है. अध्ययनों से पता चला है कि नाश्ता छोड़ने से दोपहर के भोजन के बाद ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है. एक अन्य अध्ययन से पता चलता है कि लगभग 700 किलो कैलोरी का उच्च ऊर्जा वाला नाश्ता 2 तरह के मधुमेह के रोगियों में उच्च रक्त शर्करा (High Blood Sugar) (हाइपरग्लाइकेमिया) को कैसे कम करता है. नाश्ता आपको रक्त शर्करा (Blood Sugar) का प्रबंधन करने और मधुमेह (Diabetes) की जटिल स्थिति को रोकने में मदद करता है.

अपने ब्लड शुगर की नियमित जांच न करना

कई युवा नियमित स्वास्थ्य जांच के लिए डॉक्टरों के पास जाना छोड़ देते हैं. वे यह भी सोचते हैं कि उनके रक्त शर्करा (Blood Sugar) की निगरानी आवश्यक नहीं है. तथ्य यह है कि यदि आप अपने रक्त शर्करा (Blood Sugar) के स्तर पर नजर रखते हैं, तो आप जल्दी कार्रवाई कर सकते हैं और मधुमेह को रोक सकते हैं या उलट सकते हैं.

ये भी पढ़े : Benefits Of Neem Leaves : नीम कई बीमारियों के लिए हैं रामबाण, जानिए इसके फायदे