Pipal tree: पीपल का पेड़ कैसे दिला सकता है शनि की साढ़ेसाती और पितृ दोष से छुटकारा, यहां जानें तरीका

 
Pipal tree

Pipal tree: ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक जिन लोगों की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती (Shani ki sadhe sati) मौजूद होती है या फिर जो लोग पितृ दोष से जूझ रहे हैं. अपने जीवन में उन लोगों को कुछ एक जरूरी उपाय अवश्य करने चाहिए, ताकि उपरोक्त दोनों दोषों का उनके जीवन पर नकारात्मक असर ना पड़ने पाए.

आज शनिवार (shanivar) के दिन यदि आप पीपल के पेड़ से जुड़ा उपरोक्त उपाय करते हैं, तो आपको अवश्य ही शनि की साढ़े साती और पितृ दोष (pitru dosh) से छुटकारा मिल सकता है. पीपल के पेड़ (pipal tree) से जुड़े यह उपाय आपको जानना बेहद आवश्यक है, तो चलिए जानते हैं... 

WhatsApp Group Join Now

पीपल का पेड़ कैसे दिलाएगा दोष से छुटकारा? 

  1. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, पीपल के पेड़ में साक्षात त्रिदेवों ( ब्रह्मा, विष्णु, महेश) का वास होता है. इस पेड़ की जड़ में भगवान ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु और ऊपरी भाग में शिव जी (shiv ji) का वास होता है. जिस वजह से पीपल का पेड़ काफी ज्यादा पवित्र माना गया है.
  2. शनिवार (shanivar) के दिन पीपल के पेड़ की जड़ में दूध अर्पित करें, इस दौरान दूध में गुड अवश्य डाल लें. इसके बाद शनिदेव के मंत्र शं शनैश्चराय नमः का 27 बार जाप करने से आपकी कुंडली में आपकी  मौजूद पितृ दोष कम होने लगता है.
  3. शनिवार के दिन यदि आप पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाएं और 9 बार पीपल के पेड़ की परिक्रमा करें, तो अवश्य ही आपको शनि की साढ़ेसाती से छुटकारा मिल जाएगा.
  4. शनि (Shani) की प्रकोप से छुटकारा पाने के लिए हनुमान जी (hanuman ji) के मंदिर में पीपल के 11 पत्तों को गंगाजल से धोकर उस पर केसर से श्री राम लिखें, इसके बाद उसे माला को बजरंगबली को अर्पित कर दें. ऐसा करने से बजरंगबली आपको शनि के प्रकोप से छुटकारा दिलाते हैं.
  5. पूर्णिमा (purnima) या शनिवार वाले दिन यदि आप पीपल के पत्ते पर केसर से लक्ष्मी जी का मंत्र श्रीं लिखकर उसे अपने पर्स में रख लेते हैं, तो इससे शनि दोष और पितृ दोष दोनों से आपको राहत मिलती है.

ये भी पढ़ें:- पीपल के पेड़ की परिक्रमा करने से क्या होता है, जानें फायदे

Tags

Share this story