दुनिया का सबसे ऊंचा सक्रिय ज्वालामुखी पर्वत पर मिला हैरान करने वाले अवशेष, छूने से डरे वैज्ञानिक

Image Credit- pexels
Image Credit- pexels

जब वैज्ञानिकों का एक समूह 22000 फीट ऊपर गया तो दुनिया का सबसे ऊंचा सक्रिय ज्वालामुखी, जो अर्जंटीना के ऐंडियन पहाड़ों पर है,उनसे टकरा गया। वहां उन्होंने जो कुछ देखा वो हैरान करने वाला था।

पहाड़ पर पाया गया कि एक 13 साल की लड़की का अवशेष जो कंबल में लिपटी थी। उसके आसपास चार-पांच साल की एक और लड़की और लड़के का भी अवशेष रखा हुआ था। अवशेष को देखने से ऐसा लग रहा था की घटना आज और कल की हो लेकिन वास्तविक कुछ और थी। अवशेष 500 साल पहले की थी।

रिसर्च के बाद पाया गया कि दक्षिण अमेरिका के Inca साम्राज्य के समय का ये अवशेष जो 1.5 मीटर चट्टानों के नीचे दफन होने के बाद भी हुबहू वैसा ही देखने में लग रहा था, जैसे घटना आज की हो। इस सारे घटना को रिसर्च करने वाली टीम को लीड करने वाले पुरातत्वविद डॉ. जोहान रेनहार्ड ने इसे सबसे बेहतरीन तरीके से संरक्षित की गई ममी करार दिया। उन्होंने स्मिथसोनियन चैनल की डॉक्युमेंटरी में 1999 की इस खोज के बारे में बताया।

ममी को इस तरह से शरीर पर लगाया गया है कि शरीर का कोई भी हिस्सा नहीं दिख रहा था। कपड़े इतने बेहतरीन थे कि सब सुरक्षित लग रहा था। शुरुआत में अवशेष को खोलने वक्त डर लगने लगा था क्योंकि अवशेष देखने में जिंदा लग रही थी। शरीर के खाल से लेकर लेकर नाखून तक सब सही सलामत था।

इन बच्चों को मारने की वजह:

रिसर्च के अनुसार इन बच्चों को मारने से पहले बेहोश किया गया है। ऐसा लग रहा है कि जंग या प्राकृतिक आपदा की स्थिति में उनकी बलि दी गई होगी। रिसर्चर्स ने इस बात को भी बताया है कि लड़की के बाल में केमिकल एनालिसिस किया गया था। बड़ी लड़की को मौत के एक साल पहले नशीला पदार्थ दिया जाता होगा। उसे खाना भी अलग तरह का दिया जाने लगा था। Inca काल में इनका काफी इस्तेमाल किया जाता था।

ये भी पढ़ें: