Tokyo Olympics: हॉकी खेलों के नियमों में बड़ा बदलाव, कोरोना संक्रमण के कारण फाइनल रद्द होने पर दोनों टीमों को स्वर्ण

tokyo olympics
image credit: pixabay

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक के शुरू होने में अब एक हफ्ते का समय रह गया है. कोरोना महामारी के कारण टोक्यो में आपातकाल की स्थिति बनी हुई है. राष्ट्र में बढ़ते कोरोना मामले आयोजकों और जापानी सरकार के लिए सिरदर्द बन चुकी है. यही कारण है कि आयोजक अभी से सभी तरह के विकल्पों पर गौर कर रहे हैं.

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी ओलंपिक में खेला जाता है. और इसबार खेलों के महाकुंभ में इसमें कोरोना के कारण कुछ परिवर्तन किए गए हैं. दरअसल, अंतराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने शुक्रवार को बताया कि कोरोना संक्रमण की वजह से अगर टोक्यो में हॉकी का फाइनल रद्द होता है, तो ऐसी स्थिति में दोनों टीमों को ही स्वर्ण पदक दिया जाएगा.

इसके अतिरिक्त एफआईएच (FIH) के मुख्य अधिकारी थियरे विल ने बताया कि कोरोना के खतरे को देखते हुए इवेंट से नाम वापस लेने का अधिकार टीमों के पास मौजूद रहेगा.

पुल मैच न खेलने पर विरोधी टीम 5-0 से होगी विजयी

टोक्यो ओलंपिक में आयोजित होने वाले हॉकी खेल के नियमों में बदलाव किया है. हॉकी महासंघ के द्वारा बनाए गए खेल विशेष नियमों (एसएसआर) के तहत अगर कोई टीम पूल मैच नहीं खेल पाती है तो दूसरी टीम को 5-0 से विजयी माना जाएगा. वही अगर किसी मुकाबले में दोनों ही टीम गायब रहती हैं तो उस मैच को गोलरहित ड्रा घोषित किया जाएगा. हालाँकि, टीमें इवेंट से बाहर नहीं होंगी और बाकी पूल मैच खेल सकती हैं.

फाइनल में नाम वापस लेने पर दोनों टीमों को स्वर्ण

विल ने आगे कहा ,”फाइनल में दोनों टीमों के नाम वापिस लेने पर दोनों को स्वर्ण पदक दिया जाएगा. यह एसएसआर में साफ लिखा गया है.” वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बात करते हुए विल ने कहा, “ये खेल आम खेलों से अलग है. इन्हें ओलंपिक इतिहास में दर्ज किया जाएगा. यह पिछले ओलंपिक खेलों की तरह नहीं हैं. सभी खिलाड़ियों और संबंधित लोगों को पता है कि उनका और लोगों का स्वास्थ्य दाव पर है.”

‘नियमों में स्पष्टीकरण की जरुरत’

टोक्यो ओलंपिक खेलों को आम इवेंट से अलग बताते हुए उन्होंने कहा कि “कोरोना के मामले सामने आने के बावजूद टीमें यहाँ खेल सकती हैं. हालाँकि, अभी भी नियमों को लेकर स्पष्टीकरण नहीं है. और यह जरुरी है. उन्होंने उम्मीद जताई कि ऐसी नौबत ही नहीं आएगी जब किसी टीम को कोरोना के कारण नाम वापिस लेना पड़ेगा.

हॉकी स्पर्धा में टीमों के नाम वापस लेने संबंधी नियमों के सवाल पर विल ने कहा कि अभी कोई स्पष्ट तौर पर आंकड़ा तय नहीं है. यह पूरी तरह टीम के ऊपर छोड़ा गया है. यदि छह-सात मामले आते भी हैं तो भी टीम मैच खेल सकती हैं. पूरी टीम प्रभावित होने पर ही नाम वापिस लेने की नौबत आएगी.

ये भी पढ़ें: बाबर-शाहीन ने लिविंगस्टोन के तूफानी शतक पर फेरा पानी, पाकिस्तान ने पहले टी-20 में दर्ज की जीत