खुशखबरी! Covishield लगवाने वालों को यूरोप के इन देशों में मिलेगी एंट्री, जानें

कोरोनाकाल में लंबे समय से छुट्टियां बिताने के लिए यूरोप जाने का मन बना चुके भारतीयों के लिए बड़ी राहत की खबर आई है. दरअसल सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन कोविशील्ड को अब कई यूरोपीय देशों ने मान्यता देनी शुरू कर दी है. इससे भारतीय नागरिकों के लिए यूरोप के दरवाजे खुलने की संभावना बढ़ने लगी है. बतादें मौजूदा समय में किसी भी देश की यात्रा के लिए वैक्सीन पासपोर्ट बेहद जरूरी है. यह मंजूरी यात्रा के लिए बहुत जरूरी थी.

इन देशों में कोविशील्ड को मिली मंजूरी

कोविशील्ड (Covishield) को स्वीट्जरलैंड (Switzerland) के अलावा नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रिया, जर्मनी, स्लोवेनिया, ग्रीस, आइसलैंड, आयरलैंड और स्पेन में भी मंजूरी मिल चुकी है. बता दें कि यूरोपीय संघ की डिजिटल कोविड प्रमाणपत्र रूपरेखा गुरुवार से प्रभाव में आएगी जिसके तहत कोविड-19 महामारी के दौरान स्वतंत्र आवाजाही की अनुमति होगी.

भारत ने देशों से किया था अनुरोध

भारत ने 27 देशों के यूरोपीय संघ से आग्रह किया है कि वह भारतीयों को यूरोप की यात्रा करने की अनुमति पर विचार करें. बता दें इससे पहले यूरोप के कई देशों ने खून के थक्के से जुड़े मामले मिलने के कारण कोविशील्ड के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी थी. लेकिन बाद में जब जांच की गई तो कहा गया है कि वैक्सीन के नुकसान से ज्यादा इसके फायदे हैं. जिसके बाद धीरे-धीरे कई देशों ने इस रोक को हटा दिया.

गौरतलब है कि भारत में इस समय चार कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है. इसमें स्वदेशी कंपनी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन, एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड शामिल है. इसके अलावा रूस की वैक्सीन स्पूतनिक वी औऱ मॉडर्ना की वैक्सीन को भी आपातकालीन इस्तेमाल के लिए अनुमति मिल चुकी है. कोविड वैक्सीन पासपोर्ट वो सुविधा है, जिसमें वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद उसे डिजिटल पासपोर्ट से लिंक कर दिया जाता है और यह विदेश यात्रा करने की छूट देता है.

ये भी पढ़ें: अल्‍फा, डेल्‍टा वेरिएंट्स के खिलाफ़ कारगर हैं ‘Covaxin’- अमेरिकी एजेंसी NIH का दावा