Vastu For Pooja: भगवान को हर दिन लगाएं पीले चावल का भोग, दूर हो जाएंगे सारे रोग

Vastu For Pooja
Image Credit:- thevocalnewshindi
Last updated:

Vastu For Pooja: भारत में हिंदू धर्म की पूजा अर्चना में विभिन्न प्रकार की पूजा सामग्रियों का प्रयोग किया जाता है. जिनमें से एक है अक्षत (चावल). अक्षत एक बेहद महत्वपूर्ण तथा पवित्र पूजा सामग्री मानी जाती है. जिसके बिना लगभग हर पूजा अधूरी होती है. अक्षत यानि चावल (चावल के दाने) ज्योतिष शास्त्र में बेहद लाभकारी माने जाते हैं. ज्योतिष के अनुसार चावल के जरिए आप जीवन की विभिन्न धन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं.

ये भी पढ़े:- हल्दी का पानी है बेहद लाभकारी, स्वास्थ्य लाभ के साथ कराता है घर में धन की देवी लक्ष्मी का आगमन

दरअसल, ज्योतिष शास्त्र में पीले चावल बेहद शुभ माने जाते हैं. पीले चावल आर्थिक समस्याओं को दूर करने में भी लाभकारी होते हैं. चावल को पीला करने के लिए हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है. जिसके लिए आप पहले पानी में हल्दी को घोल लें फिर उसमें चावल मिला दें. इसके बाद चावलों को सुखा लें और फिर पूजा में पीले चावल प्रयोग कर सकते हैं.

Guruwar or lord vishnu

तो आइए आगे जानते हैं पीले चावल से जुड़े उपाय के बारे में.

यदि आप जीवन की धन संबंधित समस्याओं को दूर करना चाहते हैं. तो एकादशी या शुक्रवार के दिन स्नान आदि के बाद माता लक्ष्मी के सम्मुख आसान पर बैठ जाएं फिर पीले रंग के चावलों की पोटली बनाकर, औक माता का ध्यान करके उन्हें अर्पित करें.

इसके अतिरिक्त पूजा पाठ में देवी देवताओं के आवाह्न के लिए भी पीले चावल का विशेष रूप से प्रयोग किया जाता है. ऐसा करने से भक्तों के सभी कष्ट दूर होते हैं.

yellow rice

जीवन में सकारात्मक वातावरण बनाए रखने के लिए सोमवार की पूजा में चावल का इस्तेमाल करें या इस दिन चावलों का किसी भी मंदिर में दान करें.

जीवन में धन लाभ बने रहें इसके लिए आप किसी शुभ दिन सुबह नहाने के बाद लाल रंग के रेशमी कपड़े में 21 पीले चावलों के दानें रखकर एक पोटली बना लें. फिर माता लक्ष्मी की पूजा में इस पोटली का इस्तेमाल करें. पूजा के बाद इस पोटली में पर्स रखकर तिजोरी या अलमारी में रख दें. जल्द ही आपको परिणाम दिखना शुरू हो जाएंगे.

यदि आपकी कोई मनोकामना है तो उसकी पूर्ति के लिए आप यह उपाय कर सकते हैं. जिसमें आपको शुक्रवार रात के 10 बजे के बाद एक चौकी पर दल से भरा कलश रखना होगा फिर वहां केसर से स्वास्तिक बनाना होगा.

yellow rice

उस कलश में एक रूपये का सिक्का अवश्य डालें. इसके बाद एक प्लेट में पीले रंग के चावल रखकर कलश के ऊपर रख दें. फिर वहां श्री यंत्र की स्थापना करें और कुमकुम, चावल से तिलक कर पूजन करें.

इस पूजा में चौमुखी दीपक जलाएं, लक्ष्मी स्तोत्र का पाठ करें. यह उपाय आपके लिए बेहद लाभकारी साबित होगा. इन उपायों में ध्यान रहे कि, अनुसार भगवान विष्णु को अक्षत नहीं चढ़ाया जाता है. अतः उनकी पूजा में चावलों का प्रयोग न करें.